सदस्यता अभियान के सहारे अपना दल गांवों में तेजी से जमा रहा कदम

June 4, 2018 4:47 PM0 commentsViews: 355
Share news

— निकट भविष्य में सिद्धार्थनगर की बड़ी  सियासी ताकत बनेगा अपना दल- हेमंत पटेल

नजीर मलिेक


सिद्धार्थनगर। गत विधानसभा चुनावों से पूर्व जिले में अपना दल की कोई पहचान नहीं थी। अगर कुछ लोग इस दल का नाम जानते थे तो केवल स्व. सुधीर किसान और युवा नेता हेमंत पटेल के कारण। लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में समझौते के तहत जिले की एक सीट अपना दल को मिलने और उस पर जीत भी मिल जाने से यहां अपना दल को जमीन मिली ।

दल से एक विधायक मिलने के करण अपना दल सुर्खियों में तो आयां, लेकिन जिला स्तर पर कार्यकर्ताओं व पार्टी के सदस्यों की तादाद न के बराबर थी। केवल विधायक चौधरी अमर सिंह के कुछ व्यक्तिगत समर्थक ही अपना दल के सदस्य के रूप में पहचाने जाते थे, लेकिन एक साल की मेहनत के चलते अपना दल की बंजर जमीन उपजाऊ होने की अवस्था में आ चुकी है।

गत विधानसभा चुनावों के बाद हालात बदल गये हैं। अपना दल के युवा विंग के प्रदेश अध्यक्ष हेमंत पटेल ने पिछले एक साल से जिले के विभिन्न गांवों में चौपाल लगा कर और सदस्यता अभियान चला कर पार्टी को सांगठनिक रुप से अपने पैरों पर खडा कर दिया है। अब उसे दौड़ना शेष है। अपना दल के जिलाध्यक्ष आत्माराम पटेल कहतक है कि आने वले दिनो में हम किसी भी दल का मुकाबला करने में निश्चित रूप से सक्षम होंगे।

बताया जाता है कि वर्तमान में जिले में इसके सदस्यों की संख्या 45 हजार से ऊपर हो चुकी है, जिसे निकट भविष्य में एक लाख करने का प्रोग्राम है। इसके लिए युवा अध्यक्ष हेमंत पटेल गावों को दौरा कर गरीब, किसान को दल से जोड़ रहे हैं। इसी क्रम में गत तीन दिनों में उन्होंने जिलाध्यक्ष आत्माराम पटेल, अनूप यादव, सूर्य प्रकाश चौधरी, आदर्श चौधरी, अजय चौधरी संजय यादव, प्रदीप भारती, आदि के साथ ग्राम द्धारिकवा, बांसी क्षे़त्र के ग्राम कोल्हुई आदि में चौपालें लगाई तथा किसान वर्ग को पार्टी के प्रति जागरूक किया। सैकड़ों लोगों को सदस्य भी बनाया।

दरअसल हेंमत पटेल भली भांति जानते हैं कि संगठन को मजबूत कैसे बनाया जाता है। उदाहरण के लिए शोहतगढ़ के पिपरी गांव में करंट से तबाही और मौत की खबर पर वह तुरंत गांव में पहुंचे। इसका ग्रामवासियों पर काफी प्रभाव पड़ा और वहां के लोग अपना दल की ओर आकर्षित हुए। ग्रामवासी संतोष के अनुसार हमें ऐसी पार्टी चाहिए,जिस के पार्टी के सदस्य जनता से सीधे संवाद करते हैं, हम किसान उन्हीं को नेता मानते हैं।

अपना दल के कार्यकर्ता रवि श्रीवास्तव व अजय चौधरी कहते हैं कि हेमंत पटेल जी ने पिछले एक साल में पार्टी को मजबूत बनाने के लिए बहुत कुछ किया है। इसी तरह पार्टी के लिए कुछ और लोग समर्पित हो जायें तो, आज खड़ी होकर चल फिर रहा अपना दल लोकसभा चुनावों तक दौड़ने की हालत में आ जायेगा।

Leave a Reply