ननिहाल गई थी जनाजे में शिरकत करने, शक्की मिजाज शौहर ने चाकुओं से गोद डाला

September 16, 2015 10:40 PM0 commentsViews: 304
Share news

वी श्रीवास्तव

चाकूनजमा आई थी आपने मामा के घर एक जनाजे में शिरकत करने। उसके पति को शक था कि वह अपने प्रेमी से मिलने जा रही है। लिहाजा वह भी पत्नी के साथ आया और रात में मौका मिलते ही उसे चाकू से गोद डाला। नजमा ;बदला हुआ नामद्ध मरणासन्न हालत में जिला अस्पताल में दाखिल करा दी गई है, जहां उसकी मौत की खबर है। लेकिन उसकी पुष्टि नहीं हो सकी है। घटना रात की है। नजमा को चाकू के आधा दर्जन घाव लगे हैं।

बलरामपुर जिले के थाना गैसडी के ग्राम बरगदवा निवासी निवासी मोहम्मद हसन की बेटी नजमा पचपेडवा थाने के ग्राम जगदीशपुर निवासी रहमत से ब्याही थी। 15 सितम्बर को खबर मिली की नजमा के ननिहाल ग्राम बैरिहवा टोला नौकाडीह थाना ढेबरुआ जनपद सिद्धार्थनगर में किसी रिश्तेदार का इंतकाल हो गया है। वह मातमपुर्सी के लिए चली तो पति रहमत भी साथ हो लिया।

रहमत को शक था कि नजमा मौत के बहाने अपने प्रेमी से मिलने जा रही है। रात में रहमत ने नजमा को छत पर बुलाया और उस पर चाकुओं से अनेक वार किये। यह देख नजमा की ममेरी बहन चिल्लाई, तो मामा जमीरुल्लाह व अन्य परिजनों ने रहमत को पकड़ कर उसकी पिटाई की और बाद में ढेबरुआ पुलिस के हवाले कर दिया।

इसी के साथ घायल नजमा को ढेबरुआ अस्पताल भेजा गया, जहां डाक्टर ने उसकी हालत देख, उसे जिला अस्पताल भेज दिया। खबर है कि उसने अस्पताल में दम तोड़ दिया है, लेकिन मौत की पुष्टि नहीं हो पाई है।
समाचार लिखे जाने तक पति रहमत ढेबरुआ पुलिस की हिरासत में था।

बताया जाता है कि रहमत एक शक्की आदमी था। वह अक्सर अपनी पत्नी को दूसरे से संबंध के आरोप लगाा कर पीटा करता था। फिलहाल वह पुलिस कस्टडी में अपने किये पछता रहा है। एसओ ढेबरुआ षिवकुमार ने बताया कि मुलजिम रिासत में है। अगर नजमा की मौत हुई है, तो अस्पताल से जानकारी कर रहमत के खिलाफ हत्या का मुकदमा कायम करेंगे।

Leave a Reply