सवालः 17 साल की अफसर जहां के कत्ल की आखिर क्या थी मजबूरी?

December 9, 2018 1:09 pm0 commentsViews: 1230
Share news

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। ढेबरुआ थाने के खजुरिया शर्की गांव की 17 lसाल की युवती अफसर जहां के कत्ल का राज अभी सुलझ नहीं पाया है। हालांकि पुलिस उसे प्रेम प्रसंग का मामला मान कर जांच में लगी है, लेकिन सवाल यह है कि जिस युवक ने अफसर जहां से शादी के लिए उसका अपहरण किया, उसी युवक ने परिजनों के साथ मिल कर दो दिन बाद ही अपनी कथित प्रेमिका की हत्या क्यों कर दी? यह एक ऐसा सवाल है, जिसका जवाब मिले बिना सच्चाई की तह तक नहीं जाया जा सकता है।

खजुरिया शर्की निवासी साजिद अली की बेटी अफसर जहां की लाश शनिवार की  सुबह गांव के बाहर खेत में पुआल से ढकी पाई गई थी, जिसका कुछ हिस्सा जानवरों ने काट कर विकृत कर दिया था। वह दो दिसम्बर को ही गांव से गायब थी। उसके पिता साजिद अली ने 3 दिसम्बर को ढेबरूआ थाने में लड़की के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। साजिद अली ने गांव के ही इलियास के दो पुत्र जमीरुल्लाह व मो.कासिम उर्फ गामा  अरमान पुत्र महबूब निवासी जिगिना परसा थाना इटवा और  यार मोहम्मद पुत्र अज्ञात निवासी भोजवारी ग्रान्ट थाना ढ़ेबरुआ के खिलाफ अपनी पुत्री को बहला-फुसला कर भगाने व जान से मारने का आरोप लगाते हुए तहरीर दिया था। बताते हैं कि अभियुक्तों में से एक जमीरुल्लाह अफसर जहां से शादी करना चाहता था। इसीलिए वह अपहृत की गई थी।

गौर तलब है कि साजिद अली ने पुलिस से कहा था कि यदि अभियुक्त उसकी लड़की को वापस कर दें तो वह स्वयं ही दोनों की शादी करा देगा। अभियुक्त पक्ष ने भी पुलिस से कहा कि वह तीन दिन के अंदर अफसर जहां को उसके पिता को सौंप देंगे। इन दोनों घटनाओं से पता चलता है कि  मामला इतना पेचीदा नहीं था कि लड़की के कत्ल की नौबत आ जाये। ऐसे में इस सवाल का जवाब बेहद जरूरी है कि आखिर अफसर जहां का कत्ल क्यों हुआ?

बता दें कि 2 दिसत्बर को अफसर जहां का अपहरण हुआ। 3 दिसत्बर को मृकदमा दर्ज किया गया और आठ दिसम्बर की सुबह लड़की की दो-तीन दिन पुरानी लाश मिली। यानी कि पांच या 6 दिसम्बर तक वह मौत के घाट उतारी जा चुकी थी। सीधी सी बात है कि 3 से 5 दिसम्बर के बीच अचानक ही ऐसा क्या हो गया, कि अफसर जहां का कत्ल किसी की मजबूरी बन गई।

ऊपरी तौर पर अफसर की हत्या का कोई जाहिरा कारण नजर नहीं आता है, मगर कुछ लोग दबे स्वर में आशंका जाहिर कर रहे है कि संभव है कि जब लड़की को वापस किये जाने की बात तय हुई हो तो उसके साथ अभियुक्तों में से किसी ने उसकी इज्जत लूटी हो, और लड़की के लौटाने की खबर पर बात खुल जाने के भय से उसे मार दिया गया हो। हालांकि यह एक आशंका है, मगर इन चार दिनों में अफसर जहां के साथ जरूर कुछ ऐसा हुआ कि उसकी मौत जरूरी बन गई। वह वजह क्या हो सकती है, पुलिस को इसकी छानबीन करनी पड़ेगी। अगर उसके साथ रेप हुआ है तो यह बात पोस्ट मार्टम रिपोर्ट से साबित हो जायेगी, वरना कोई और गहरी वजह होगी, जिसका खुलासा होने पर ही असली कातिल को सजा मिल सकेगी।

 

(916)

Leave a Reply


error: Content is protected !!