स्वास्थ्य विभाग कि बैठक में आयुष्मान भारत की कार्ड संख्या और लाभार्थी बढ़ाने पर जोर

February 17, 2020 12:11 pm0 commentsViews: 182
Share news

निज़ाम अंसारी

कस्बा शोहरतगढ़ स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ पी के वर्मा  द्वारा आशा , ए एन एम और हॉस्पिटल स्टाफ के साथ संयुक्त मीटिंग की गई जिसमें प्रदेश सरकार द्वारा संचालित स्वास्थ्य योजनाओं की समीक्षा बैठक की। समीक्षा बैठक में मुख्यरूप से आयुष्मान भारत कार्ड की संख्या और लाभार्थियों की संख्या बढाये जाने पर जोर दिया। बैठक में वर्तमान में चल रहे कार्यक्रम मिजिल्स रूबेला से होने वाले नुकसान और बचाव पर व्याख्यान दिया।

बैठक के दौरान चिकित्सा अधीक्षक ने कहा आयुष्मान भारत योजना गरीब एवं लाचार मरीजों के लिए संजीवनी साबित हो रही है। कठिन से कठिन ऑपरेशन हो या फिर अन्य गंभीर बीमारी, आयुष्मान के तहत मरीजों को इलाज के अलावा दवा भी नि:शुल्क मिल रही है।एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल तक पहुँचाने की व्यवस्था भी है। आयुष्मान भारत योजना के तहत लगातार मरीजों को सुविधा मिलने से मरीजों को काफी लाभ हो रहा है। अधीक्षक ने विभागीय कर्मचारियों को योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभ दिलाने के लिए अस्पताल प्रशासन पर दवाब बनाए हुए है। आयुष्मान भारत योजना के तहत अभी तक 7500 परिवारों को कार्ड बनाया जा चुका है। मरीजों को आयुष्मान योजना के तहत लगभग 15 लोगों का ऑपरेशन और गंभीर बीमारी का इलाज कर लाभ दिया जा चुका है। अस्पताल अधीक्षक डॉ. पी के वर्मा ने सभी  स्वास्थ्य प्रबंधकों को हर महीने ज्यादा से ज्यादा 150 लाभुकों का इलाज योजना के तहत कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है।  स्वास्थ्य प्रबंधकों में उत्साह भरते हुवे उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा  कि सभी स्वास्थ्य प्रबंधक रोजाना पांच-पांच लोगों को योजना का लाभ दिलाने का काम करें।

आयुष्मान भारत के लाभार्थी कंचन उम्र 12 वर्ष के पिता रामशंकर व माता किरन निवासी जगदीशपुर ने बताया कि इलाज राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल लखनऊ में हाथ की हड्डी बढ़ रही थी उसका इलाज करवा चुकी हैं और बेटी स्वस्थ्य हैं। कार्ड होने के कारण ऑपरेशन मुफ्त में हुआ। आने जाने के लिए गाड़ी उपलब्ध कराई गई थी दवा का भी एक भी  रुपया नहीं लगा।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. पी के वर्मा ने आयुष्मान भारत योजना के तहत ऑपरेशन कराकर लौटी सावित्री देवी से रिपोर्टर से मिलवाया सावित्री उम्र 38 वर्ष पत्नी राम वृक्ष शोहरतगढ़ निवासी ने बताया कि उनका परिवार बहुत गरीब है मेहनत मजदूरी करके किसी तरह से दो जून की रोटी की व्यवस्था हो पाती है ऐसे आयुष्मान कार्ड ने बहुत सहारा दिया उन्होंने आगे बताया कि उन्हें पता चला कि उनके पित्त की थैली में पथरी है उन्होंने तत्काल स्वास्थ्य प्रबंधक यूनिट के सुरेंद्र पाल से मिलकर इलाज करवाने को कहा की शोहरतगढ़ अस्पताल से गाड़ी उनको लेकर गोरखपुर के पार्थ अस्पताल लेकर गई वहां भर्ती कराया गया इस दौरान मेरे परिजन भी साथ थे। सावित्री ने आगे कहा कि अस्पताल बहुत अच्छा था मुफ्त में ऑपरेशन हुवा दवा का भी पैसा नहीं लगा ये सब बताते हुए वह बहुत खुश थीं । सी एच सी शोहरतगढ़ के बी पी एम सतीश कुमार ने बताया कि उनकी यूनिट लगातार प्रेग्नेंट वुमन से लेकर प्रसव और उसके बाद लगने वाले टीकों की बड़ी बारीकी से जांच करती है जनवरी माह में 167 सामान्य प्रसव हुवे हैं।

डॉ पी के वर्मा ने बताया कि देश के सर्वाधिक 112 पिछड़े जनपदों में सिद्धार्थ नगर जनपद भी सूची में आता है आयुष्मान भारत योजना के तहत सभी गरीब और वंचितों को लाभ देने को घोषणा से यूपी के पिछड़े आठ जिलों में सिद्धार्थनगर  को फायदा मिलेगा। बैठक के दौरान Anm, पुष्लता,इंद्रावती सिंह, सोनम,प्रिया मौर्य, वंदना सिंह,लाली देवी,वंदना यादव,गीता  गुप्ता,गीता निगम,रीता श्रीवास्तव हिमानी देवी,सोनी,रतनलाल,सुनील शर्मा,शैलमनी चौधरि,यूनिसेफ से राजू चौधरी, BOC कविता heo गंगाधर द्विवेदी,BCPM सुरेन्द्र पाल आदि उपस्थित रहे।

बताते चलें कि डॉ वर्मा पिछले वर्ष जून माह से चिकित्सा अधीक्षक के पद पर तैनाती हुई है उनके आने के बाद से अस्पताल की व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है दो मेडिकल अफसर बढ़े हैं , एक्स रे मशीन चालू किया गया है पिछले माह 25 लोगों का एक्स रे किया गया है। मरीजों को पर्याप्त मात्रा में दवाईयां मिल रही हैं स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ी है।

(119)

Leave a Reply


error: Content is protected !!