Breaking- बुद्ध की सरजमीन पर अम्बेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त, मौके पर तनाव, पुलिस बल तैनात, ग्रामीण धरने पर बैठे

March 31, 2018 11:53 am0 commentsViews: 826
Share news

— पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा, बसपाइयों ने कहा, भाजपा राज में सामाज विरोधी तत्वों पर नियंत्रण नहीं

नजीर मलिक  buddh-bhoomi-par-pratima-todi-gai

गौहनियां में क्षतिग्रस्त की गई बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा

सिद्धार्थनगर । कुल विश्व को ज्ञान प्रकाश से आलोकित करने वाले गौतम बुद्ध की सरजमीन सिद्धार्थनगर जिले के डुमरियागंज थाना क्षेत्र के गौहनियां राज गांव में संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति को शरारती तत्वों द्धारा क्षतिग्रस्त कर दिये जाने के बाद वहां तनाव हो गया है। घटना के विरोध में आक्रोशित ग्रामीण मौके पर धरने पर बैठ गये हैं। तनाव के मद्देनजर वहां भारी पुलिस बल तैनात कर दिया है। मौके पर कई अफसरों ने भी डेरा डाल दिया है। मुकामी पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है। बसपा नेताओं ने घटना की निंदा की है।

जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह गौहनियां के कुछ ग्रामीणों ने देखा कि गांव में स्थापित बाबा साहब की प्रतिमा क्षतिग्रस्त है। प्रतिमा का दाहिना हाथ तोड़ कर अलग कर दिया गया है। उसके दाहिने हिस्से का भाग बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। ग्रामीणों का अनुमान है कि शरारती लोगों ने यह काम शुक्रवार रात में किसी वक्त किया गया।  उनका कहना है कि क्षेत्र में वर्गीय तनाव भड़काने की साजिश का हिस्सा है।

बाबा साहब की मूर्ति के टूटने की खबर पर वहां भीड़ लगने लगी। आक्रोशित ग्रामीण मौके पर धरने पर बैठ गये। उन्होंने दोषियों की फौरन गिरफतारी की मांग की। दूसरी तरफ घटना की सूचना पाकर प्रशासन भी सतर्क हो गया। उसने मौके पर चार थानों की पुलिस तैनात कर दी। एसडीएम और सीओ डुमरियागंज वहां खुद भी मौके पर मौजूद रह कर हालात पर नजर रखे हुए हैं।

आखिर किसने तोड़ प्रतिमा

मूर्ति किसने तोड़ी, इस बारे में कोई बता नहीं पा रहा। लेकिन इसे लेकर क्षेत्र में तरह तरह की चर्चाएं चल रही हैं। लोग इसके पीछे साम्प्रदायिक और नस्लवादी तत्वों की साजिश का अंदाज लगा रहे हैं। बसपा के लोग इसे योगी सरकार में बढ़ती हिंसा और अराजकता की श्रृंखला में एक और कड़ी जोड़ कर देख रहे हैं। उनका आरोप है कि भाजपा शासन में बाबा साहब विरोधी शक्तियां नियंत्रण से बाहर हो चुकी हैं।

बसपाइयों ने की जांच की मांग

पूर्व मंत्री मलिक कमाल यूसुफ सहित बसपा के लोकसभा प्रभारी आफताब आलम, डुमरियागंज से बसपा उम्मीदवार रहीं सैयदा मलिक, इटवा के प्रभारी अरशद खुरशीद, बसपा के पूर्व जिला अध्यक्ष शेखर आजाद और जिलाध्यक्ष दिनेश गौतम आदि ने प्रशासन से आपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। इस बारे में डुमरियागंज पुलिस ने बताया कि इस संबंध में अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जांच कर उनकी गिरफ्तारी जल्द कर ली जायेगी। समाचार लिखे जाने तक वहां का माहौल आक्रोशित था।

 

 

 

 

(731)

Leave a Reply


error: Content is protected !!