जमीन के पैसे को लेकर किया था रिंकू चौधरी ने बबलू गुप्ता का गला रेतकर कत्ल

January 15, 2022 3:39 pm0 commentsViews: 1319
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। बबलू गुप्ता मर्डरकेस का चार दिन के भीतर खुलासा करते हुए ढेबरूआ पुलिस तथा एसओजी की संयुक्त टीम ने अभियुक्त रिंकू चौधरी ऊर्फ ओम प्रकाश को आज यानी शनिवार सुबह गिरफ्तार कर लिया है। मृतक बबलू गुप्ता और अभियुक्त रिंकू दोनों ग्राम मटियार भुतहवा के निवासी थे। हत्या का कारण जमीनी खरीद के पैसे का लेन देन बताया जाता है। रिंकू की गिरफ्तारी ग्राम पचउथ तिराहा से की गई। दोनों की उम्र लगभग 32 वर्ष थी।

हत्या का पर्दफास करते हुए पुलिस अधीक्षक डा. यशवीर सिंह ने बताया कि रिंकू चौधरी  ने विगत दिनों बबलू से उसके गांव की कुछ जमीन 4 लाख में खरीदा था। उसकी रजिस्ट्री पूरा पैसा देने के बाद की जानी थी। मगर रिंकू पैसा देने में देर करने लगा। इस पर बबलू ने कहा कि शेष पैसा नही दिया तो वह जमीन दूसरे से बेच देगा। इसी बात को लेकर दोनों में अंदर से तनातनी रहने लगी।

पुनिस अधीक्षक ने बताया कि गत 11 जनवरी को रिंकू और बबलू दोनों तुलसियापुर चौराहे पर मिले। बबलू द्वारा गाली गलौज के साथ पैसे की बात करने पर रिंकू चौधरी ने बबलू गुप्ता को 10 हजार रूपये दिये और फिर दोनों वहीं से घूमने नेपाल चले गये। पुलिस के मुताबिक दोनों ने वहां शरीब पी और देर शाम घर की ओर लौटे। भियुक्त रिंकू के मुताबिक अभी दोनों गांव के बाहर पहुंचे ही थे कि रिंकू ने  मफलर से बबलू के गले में डाल कर उसका गला घोंट दिया फिर चाकू से उसका गला भी रेत दिया उसके बाद घर चला गया।

दूसरे दिन सुबह हत्या की वारदात की जानकारी ग्रामीणों को मिली। इसके बाद तहरीर के आधार पर ढेबरुआ पुलिस ने छानबीन की तो उपरोक्त तथ्य सामने आया। जिसके बाद रिंकू को आज तड़के सुबह ही पचउध तिराहे पर जाते हुए गिरफ्तार कर लिया। इस गिरफ्तारी में ढेबरुआ पुलिस के ब्रह्मा गोड़ व एसओजी के उपनिरीक्षक जीवन त्रिपाठी सहित अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे। गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को एसपी डा. यशवीर सिंह ने दस हजार नगद पुरस्कार की घोषणा की।

(1225)

Leave a Reply


error: Content is protected !!