बारिश ने बिगाड़ दी बढ़या चौराहे की सूरत, चारों तरफ कीचड़ ही कीचड़

July 7, 2020 2:24 pm0 commentsViews: 1875
Share news

मेराज़ मुस्तफा

बढ़या, सिद्धार्थनगर । पिछले दो सप्ताह से रूक-रूक कर हो रही बरसात ने इटवा तहसील क्षेत्र के बढ़या चौराहे की सूरत बिगाड़ कर रख दी है स्थिति यह है कि सौ-डेढ़ सौ मीटर मुख्य मार्ग पर जहां पानी भरा है तो वहीं चौराहा कीचड़ से सराबोर हैं। गड्ढा युक्त सड़क पर पानी भरे रहने से दुर्घटना से लोग चुटहिल भी हो रहे हैं, जबकि पटरियों पर फैली गंदगी चौराहे के लोगों का सुकून छीने हुए है।

इटवा – बेलवा मार्ग पर स्थित बढ़या चौराहा की स्थिति को हल्की बारिश ने  बदतर बना दिया है। अनगिनत गड्ढे वाले प्रमुख मार्ग पर सौ-डेढ़ सौ मीटर दूरी में सिर्फ पानी भरा हुआ है पानी के बीच गड्ढे में कोई वाहन फंसा तो उसे दुर्घटना ग्रस्त होना तय है ऊपर से कीचड़ व गंदगी ने पूरे चौराहे की स्थिति को खराब कर दिया है लेकिन सबसे खराब स्थिति मुख्य चौराहे एवं बढ़या – कठेला मार्ग की जहां  चौराहे से लगभग डेढ़ – दो सौ मीटर की दूरी तक मुख्य मार्ग कीचड़ से सराबोर होने की वजह से दिख भी नही रहा जिसका परिणाम आने – जाने वाले राहगीरों और दुकानदारों को उठाना पड़ रहा 

बढ़या निवासी परवेज अहमद , आरिफ पठान द्वारा बताया गया कि पानी भरे रहने एवं कीचड़ की वजह से आवागमन दुरुह बना है जिससे पूरे चौराहे की दुकानदारी चौपट है। होटल व्यवसाई फखरुद्दीन व आईमास जिलाध्यक्ष शाहिद हुसेन ने कहा कि पटरियों पर कीचड़ व गंदगी भरी हुई है, बावजूद इसके कोई पुरसाहाल नहीं है ।

रेहरा उर्फ भैसाही निवासी मोहम्मद आमिर और पप्पू चौधरी का कहना है कि प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा ना तो सड़क की स्थिति ठीक कराई जाती है और ना  ही जल भराव की समस्या से निजात के लिए कोई पहल की जाती है। बढ़या चौराहे पर व्यवसाय करने वाले मोहम्मद आसिफ, दिलशाद खान, अब्दुल बशर, मोहम्मद इस्माईल, सूरज मौर्या ने बताया कि समस्या के प्रति न तो जनप्रतिनिधि ध्यान दे रहे हैं और न प्रशासनिक अमला। स्थानीय नागरिकों व दुकानदारों ने एक स्वर में जिला प्रशासन से समस्या निजात हेतु उचित कदम उठाये जाने की मांग की है।

(1814)

Leave a Reply


error: Content is protected !!