नदी में कार गिरने से समाजसेवी बलराम व शमशाद की दर्दनाक मौत,

September 29, 2018 12:04 pm1 commentViews: 1963
Share news

— जानवर को बचाने के प्रयास में असंतुलित होकर नदी में गिरी कार, रात दो बजे हुआ हादसा

 

नज़ीर मलिक

कठनाइयां नदी से निकाल गया पूर्व प्रधान का शव

सिद्धार्थनगर। नदी में कार गिर जाने से जिले के रेहरा बाज़ार (अब नगरपंचायत उसका बाज़ार) के पूर्व प्रधान बलराम बर्नवाल और उनके साथी की शमशाद की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई।बीती रात यह दुर्घटना  संतकबीनगर नगर जिले में रात दो बजे हुई। उनका शव नदी से आज सुबह निकाला जा सका। 55 साल के बर्नवाल की गिनती एक अच्छे समाजसेवी के रूप में होती है। इस घटना से सदर तहसील के लोग अवाक हैं। उनके घर पर लोगों की भीड़ लगी हुई है।

बताया जाता है कि पूर्व प्रधान बलराम बर्नवाल रात में संतकबीर नगर से अपनी लक्जरी कार UP32-5253 से अपने घर उसका बाजार आ रहे थे। गाड़ी शमशाद चला रहा था। रात लगभग दो वह बाघनगर के करीब पहुंचे ही थे कि अचानक  सड़क पर जानवरों का झुंड आ गया। शमशाद ने ब्रेक लगाया तो गाड़ी असंतुलित होकर सडक के किनारे से बह रही कठिनाइयां नदी में जा गिरी।

नदी में गिरी पूर्व प्रधान बलराम की कार

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उन्हें रात में किसी भयानक हादसे की खबर तो लगी, मगर घटाघुप अंधेरे में नदी में कुछ कर पाना संभव न था। सुबह लोगों ने नदी पर जाकर देखा तो पूरी घटना समझ में आयी। आनन  फानन में कार को बाहर निकाला गया तो उसमें से पूर्व प्रधान बलराम और उनके साथी शमशाद की लाश मिली। शमशाद ही उनकी गाड़ी चलाता था। वह घर के पारिवारिक सदस्य की तरह था।

गाड़ी से बरामद कागजातों के आधार पर उनके नाम पते की शिनाख्त हई तो शनिवार सुबह उनके परिजनों को खबर दी गई। समाचार लिखे जाने तक उनकी लाश पीएम के लिए भेज दी गई थी। वहां से सांय 4 बजे तक घर पहुंचेगी। इस दर्दनाक वाकये के बाद उनके घर पर लोगों का तांता लगा हुआ है। लोग पूर्व प्रधान की मिलनसारिता और उनकी सहृदयता की कहानियां दोहरा कर उनको याद कर रहे हैं।

(1496)

Leave a Reply


error: Content is protected !!