पीएम रिपोर्ट से उलझा रौशनी की मौत का मामला, क्या हत्या को आत्महत्या बनाने की साजिश हुई 

April 7, 2023 12:31 PM0 commentsViews: 293
Share news

 गला ट्रेन से कटता तो शरीर से निकलता ज्यादा खून, दिखते अन्य चोटों के निशान, क्या साजिशन हत्या कर लाश पटरी पर फेंकी गई

नजीर मलिक

जिला मुख्यालय के बलुरी निवासिनी रोशनी की की ट्रेनसे कट कर हुई मौत का मामला पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उलझ गया है। लोगों द्धारा व्यक्त की जा रही कत्ल की आशंका को अब और बल मिलने लगा है। पीएम रिपोर्ट के मुतबिक रौशनी की मौत गहरी चोट होने से हुई है। मतलब कि रौशनी की मौत सर के चोट से पहले हुई और ट्रेन से गला बाद में कटा।फिर भी पुलिस का कहना है कि हादसा ट्रेन से ही हुआ है, मगर यहां भी एक सवाल है के रौशनी का गला अगर ट्रेन से कटता तो शरीर को रक्त से रक्त की बौछार होकर फैल जाना चाहिए था और शरीर में अन्यजगह भी चोट खरोच आदि तो आनी ही चाहिए थी। जबकि इसके उलट रौशनी के शरीर पर खून के केवल चंद छीटें पड़े थे। ऐसे में हादसा होना लोगों के गले से नहीं उतर पा रहा है।

जिला मुख्यालय के मुहल्ला बलुरी के चन्द्र प्रकाश की 17 साल की बेटी रोशनी का शव तीन दिन पहले गोरखपुर- गोंडा रेलखंड पर स्थित रेहरा गांव के पास  मंगलवार को रेलवे लाइन पर लाश मिला था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उसका सिर धड़ से अलग था। शरीर पर खून की चंद बूदें मात्र पड़ी थीं। पुलिस ने उसी दिन देर शाम शव की पहचान होने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

पुलिस के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गहरी चोट से मौत की पुष्टि हुई है, जैसा की मृतका का गला कटा हुआ है। ऐसे में यही कहा गया कि रौशनी की मौत ट्रेन से कट कर हुई है। लेकिन घटना स्थल की स्थिति देखने वाले इस पर उसी समय संदेह व्यक्त करने लग गये थे। इस संबंध में शहर कोतवाली सतीश कुमार सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गहरी चोट मौत का कारण बताया गया है, जो टे्रन से कटने से हुआ है। फिर भी मामले की छानबीन की जा रही है। हर पहलुओं को देखा जा रहा है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

मौत के बाद जनमानस में उठरहे सवाल

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक घटना स्थल पर किशोरी का सिर धड़ से अलग रेलवे लाइन पर मिला था। रेल से कटने के बाद चेहरा खराब हो जाता है और उसे पहचान पाना मुश्किल हो जाता है। जबकि इस मामले में ऐसा नहीं था। चेहरा सुरक्षित था, केवल खून के थोड़े छींटे पड़े थे। रेलवे लाइन पर कटने के बाद खून ही खून दिखता, जबकि हादसे के हिसाब से खून न के बराबर गिरा हुआ था। वहीं परिवार के लोग कुछ भी बोलने से मना कर रहे हैं। रोशनी कब घर से निकली, क्यों निकली, यह जानकारी नहीं दे पा रहे हैं।

रौशनी ने अभी इंटर पास ही किया था। इस उम्र में आम तौर से बच्चेप्रेमप्रसंग में उलझ जाते हैं।लोग यह भी चर्चा कर रहे हैं कि शायद कुछ ऐसा भी हो। लकिन कठिनाई यहहकि मृतका के परिजन बहुत कुछ बता पाने में असमर्थ है या शायद कुछ छिपा रहे हैं। इस कारण सभी के जेहन में संदेहजनित सवाल उठ रहे हैं। उठ रहा है। इन्हीं सवालों में मौत की वजह भी दफन है जिसका जवाब पुलिस की गहरी तहकीकात में ही सामने आ सकता है।

 

 

 

Leave a Reply