बन्हैती हत्याकांडः मृतका संग थे कातिल के सम्बंध, दोस्त के साथ जाने पर हुआ था कत्ल

June 4, 2018 6:36 PM0 commentsViews: 758
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। जिले के खेसरहा थाना के ग्राम बन्हैती में  बीते दिनों हुए बहुचर्चित हत्याकांड का मुख्य आरोपी रज्जाक की नेपाल में गिरफ्तारी के बाद सिद्धार्थनगर पुलिस भारत लाने में कामयाब हो गई। घटना प्रेम प्रसंग का निकला, जिसमें न चाहते हुए भी ऐसी घटना बन गई, और कातिल को एक महिला को जिंदगी से अलविदा कराना पड़ा।

पुलिस के बताये के अनुसार बन्हैती गांव में 28 साल की विंध्यवासिनी के कत्ल के बाद नेपाल में बैठा मुख्य अभियुक्त  वहां से भारत में प्रवेश करते ही मुकामी पुलिस द्धारा दबोच लिया गया। वह नेपाल पुलिस के हाथों गिरफ्तार हुआ था, मगर जमानत मिलने के बाद भारत आ रहा था कि पुलिस द्धारा पकड़ लिया गया।

आज यहां एसपी डा. धर्मवीर ने प्रेस कान्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मृतक विंध्यवासिनी से बलात्कार में विफल होने के बाद रज्जाक ने उसका कत्ल किया। वो पुलिस की इस कामयाबी पर बहुत खुश हैं। मगर ेई सवाल है जो पुलिस की कार्यप्रणाली पर अंगुली उठाते हैं।

लेकिन तस्वीर का दूसरा पहलू यह है कि रज्जाक पडोस के गांव जो जिलरा संतकगीर नगर में नड़ता है, का रहने वाला था। बन्हैती गांव में उसकी ससुराल थी। उसने मृतका विंध्यवासिनी के पति विजय को विदेश जाने के लिए मदद करने का वायदा किया था। इसी चक्कर में वह जिय के घर आने जाने लगा था और उसके विंध्यवासिनी से अंतरंग सम्बंध बन गये थे।

लेकिन गत 12 मई को जब रज्जाक विंध्यवासिनी से सम्बंध बनाने पहुंचा तो उसके साथ उयका साथी पिंटू उर्फ असलम भी था।  विंध्यवासिनी ने इसका विरोध किया। शायद वह समझती थी कि किसी और के सामने यह काम खराब है। इसी को लेकर दोनों में बहस हुई और कामांध रज्जाक व उसके साथी पिंटू ने मिल कर विंध्यवासिनी को मार डाला। फिलहाल रज्जाक को जेल भेज दिया गया है। पिंटू पहले ही पकड़ा जा चुका है। बाकी सच्चाई तो पुलिस की चार्जशीट और मुकदमें के फैसले से  ही पता चलेगी।

 

Leave a Reply