पति़-पत्नी का प्रेमः बांसी के बीरू ने आखिर अपनी बसंती को पाकर ही मरना कैंसिल किया

September 15, 2020 2:25 pm0 commentsViews: 1356
Share news

— बसंती के हां कहने पर ही टावर पर चढ़े संजय ने छोड़ा जान देने का इरादा

नजीर मलिक

टावर से उतरने के बाद अपनी पत्नी व बव्वे के साथ वीरू

सिद्धार्थनगर। यूपी के सिद्धार्थनगर जिले के बांसी कोतवीली निवासी संजय साहनी ने गत दिवस बसंती और बीरू जैसा नजीरा रियल लाइफ में पेश कर दिया, जिसे जनता फिल्म शोले में धर्मेंन्द्र और हेमामालिनी द्धारा अभिनीति बसंती व बीरू के किरदार में वर्षों से देखती आ रही है। बस अंतर केवल इतना था कि शोले का बीरू पानी की नकली टंकी पर चढ़ा था और बांसी कोतवाली के घघुआ गांव का संजय उर्फ बीरू हाई वोल्टेज वाले बिजली के असली टावर पर चढ़ गया था।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक 30 साल का संजय साहनी अपनी पत्नी बसंती को बहुत चाहता था। लेकिन दारु पीने की आदत के कारण कभी कभी दोनों में तकरार हो जाती थी। गांव वालों ने बताया कि रविवार को संजय कुछ अधिक ही दारू पीकर आया तो पत्नी ने उसे बहुत फटकारा, लकिन नशे की अधिकता के कारण वह सो गया। सुबह उसे फिर पत्नी की नाराजगी दिखी। उसने एक दो बार पत्नी को बुलाने की कोशिश भी की लेकिन उसकी बसंती ने उसे फिर झिड़क दिया। तत्पश्चात संजय ने बड़ा निर्णय ले लिया।

वह गांव से निकल कर सीघे निकल कर दारू की दुकान पर गया और जम कर शराब पी। इसके बाद वह एक खेत में स्थित हाई वोल्टेज वाले विदृयुत लाइन के टावर पर चढ़ गया। वह टावर पर चढ़ कर अपनी बसंती से गुहार  करने लगा कि वह अगर उससे नहीं बोलेगी तो वह टावर के तार पकड़ कर अपनी जान दे देगा। तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने भी उसे मनाने की बहुत कोशिश की मगर वह बीरू बना हुआ था। बिना बसंती के हां कहे वह टावर से उतरने को तैयार न था।

अन्त में सोच विचार के बाद उसकी बसंती (पत्नी) भी बुलाई गई। उसने मौके पर नाराज न होने की बात कही तो संजय बिलकुल शोले फिल्म के अंदाज में मरना कैंसिल कर टावर से नीचे उतरा। इस प्रकार 1975 की फिल्म शोले वाली कहानी को  45 साल बाद वास्तविक रुप से दोहरा कर अपनी मुहब्बत का सबूत दे दिया।

(1311)

Leave a Reply


error: Content is protected !!