बांसीः मंत्री जयप्रताप के गृहनगर में भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर, अज्जू त्रिकोण चक्रव्यूह में फंसे

November 25, 2017 1:23 pm0 commentsViews: 966
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। निकाय चुनाव में नगरपालिका बांसी की सीट प्रदेश के आबकारी मंत्री राजकुमार जयप्रताप सिंह के करण भाजपा की नजर में बस्ती मंडल की सबसे प्रतिष्ठित सीट बन गई है। आबकारी मंत्री यहीं से विधायक है। यहां से भाजपा के अजय कुमार उर्फ अज्जू श्रीवास्तव चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट को जीतने के लिए  भाजपा कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है।

 

बांसी क्षेत्र सदा से भाजपा का गढ रहा है, मगर शहर का जातीय समीकरण कुछ ऐसा है कि भाजपा को यहां सदैव कड़ी चुनौती मिलती रही है। अगर जातीय समीकरण को देखा जाए तो यहां पर 35 प्रतिशत मुस्लिम मतदाता हैं, जो अक्सर किसी सेक्युलर दल के साथ जुड़ कर भाजपा को शिकस्त देते रहे हैं। अतीत में मुस्लिम मतों के विभाजन पर ही भाजपा की जीत संभव हो सकी है।

बांसी से इस बार अध्यक्ष पद के 10 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिसमें भाजपा से अजय कुमार श्रीवास्तव सपा से मोहम्मद इदरीश पटवारी और कांग्रेस से हरगोविंद साहू बसपा से अबरार हुसैन और भाजपा के बागी धु्व जायसवाल आदि मैदान में हैं। जायसवाल और अज्जू की सपा उम्मीदवार पटवारी से तगड़ी लड़ाई है।

 

भाजपा इस बार भी बांसी में जबरदस्त चक्रव्यूह में फंसी दिख रही है। ध्रुव जायसवाल एक मजबूत प्रत्याशी हैं जो भाजपा के वोट में ही विभाजन कर रहे हैं। वह चुनाव जीतने की संभावना वालों की कतार में खडे हैं। ऐसे में अगर सपा के इद्रीश पटवारी, ध्रुव जायसवाल और भाजपा के अज्जू श्रीवास्तव के बीच कड़ी टक्कर हुई तो बांसी के पिछड़े खास कर यादव मतदाता सपा से जुड़ कर परिणाम पटवारी के पक्ष में कर सकते हैं।

 

यही कारण है कि बांसी में भाजपा की बेचैनी साफ दिख रही है। आबकारी मंत्री सहित भाजपा के तमामा दिग्गज वहां पसीना बहा रहे हैं। थोड़ी सी चुक या कमजोरी भाजपा के लिए घातक सिद्धा होगी, ऐसा मानने वालों की यहां कमी नहीं है। पिछली बार यं से सपा उम्मीदवार की पत्नी चमन आरा जीती थीं, भाजपा वह समीकरण भूली नहीं होगी।  भाजपा को जीत के लिए ध्रुव जायसवाल को हर हाल में कमजोर करना होगा

(802)

Leave a Reply


error: Content is protected !!