बीएसए के खिलाफ विधायक ने ठोंकी ताल, आरोपों के पुलिंदे के साथ लखनऊ रवाना

February 25, 2016 1:27 PM0 commentsViews: 254
Share news

नजीर मलिक

aaaaa

सिद्धार्थनगर। सदर विधायक विजय पासवान ने बीएसए के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वह भ्रष्टाचार के तमाम आरोपों केे साथ शिक्षामंत्री और मुख्यमंत्री से मिलने राजधानी रवाना हो गये हैं। विधायक के मुताबिक बेसिक शिक्षाधिकारी अजय सिंह के खिलाफ कई गंभीर आरोप हैैं।

शिक्षा मुख्यमंत्री को सौंपे गये आरोप पत्र की कापी विधायक पासवान ने डीएम, शिक्षा निदेशक, प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा व सचिव बेसिक शिक्षा को पहले ही भेज दिया है। इन पत्रों में उन पर ड्रेस में कमीशनबाजी, ट्रांसफर पोस्टिंग में वसूली व समायोजन में रिश्वतखोरी जैसे गंभीर आरोप हैं।

विधायक के आरोप पत्र के मुताबिक बेसिक शिक्षाधिकारी शिक्षमित्र से अध्यापक बने कर्मियों से वेतन भगतान के लिए दस फीसदी कमीशन की वसूली की जा रही है। नहीं देने वालों पर दबाव बनाया जा रहा है। आरोप के मुताबिक बीएसए अफसर होगकर भी मातहतों से गाली गलौज करते हैं, जो निहायत ही शर्मनाक है।

विधायक का आरोप है कि प्रशिक्षु महिला शिक्षकों को शासनादेश के विपरीत दूर दराज के क्षेत्रों में भेजा गया और फिर उनसे लम्बी रकम की वसूली कर इच्छित स्कूलों पर तैनाती दी गई। इसके दस्तावेजी सबूत हैं।

अन्य आरोपों में एक ड्रेस वितरण का है। विधायक विजय पासवान के मुताबिक बच्चों को दिए जाने वाले निशुल्क ड्रेस में तीस प्रतिशत कमीशन लिया जाता है। जिसे नहीं देने पर उत्पीड़क कार्रवाई की जाती है।

इस बारे में विधायक पासवान के मीडिया प्रभारी कलाम सिद्दीकी ने बताया कि वर्तमान में बेसिक शिक्षा विभाग भ्रष्टाचार का गढ़ बन गया है। बीएसए की लूट खसोट से अध्यापकों में बेहद आक्रोश है, लेकिन वह कार्रवाई के भय से विरोध कर पाने में सक्षम नहीं हैं।

उन्होंने पुष्ट किया है कि सदर विधायक इसके खिलाफ शिक्षामंत्री और मुख्यमंत्री को साक्ष्य देने के लिए राजधानी गये हुए हैं और यह भी कहा कि मुख्यमंत्री की ड्रीम योजना के तहत शिक्ष मित्र से शिक्ष्क बनाये गये युवाओं से बकाया वेतन भुगतान के एवज में कमीशन मांगना सरकार की साख पर बट्टा लगाना है। सपा इसे सहन नहीं करेगी।

 

Leave a Reply