कम्बल वितरण प्रोग्राम में बोले आफताब- गठबन्धन में प्रत्याशी नहीं जनता का हित महत्वपूर्ण

January 23, 2019 4:00 PM0 commentsViews: 511
Share news

नज़ीर मलिक

सिद्धार्थनगर। सपा – बसपा गठबन्धन का असल मकसद सांप्रदायिक व पूंजीवादी विचार वाली बीजेपी को सत्ता से बेदखल करना है, जिसने देश के गरीबों, किसानों का जीना मुहाल कर दिया है। गठबंधन में टिकट किसी दल के प्रत्याशी को मिले, हम अपनी परवाह न कर सत्ताधारी दल की शिकस्त के लिए उसकी भी मदद को तैयार रहेंगे।

यह बात डुमरियागंज लोकसभा क्षेत्र से बीएसपी के घोषित प्रत्याशी आफताब आलम ने व्यक्त किया। वे शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के शोहरतगढ़ उपनगर समेत ग्राम सभा गुजरौलिया, अठकोलिया और डोहरिया में गरीबों को कंबल वितरण के बाद आयोजित सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इन सभाओं में बसपा नेता आफताब ने लगभग एक हजार कम्बल का वितरण किया।

आफताब आलम ने कहा कि मेरे टिकट से महत्वपूर्ण  किसान, नौजवान, दलित और मुसलमान विरोधी भाजपा की शिकस्त है। उसके लिए मै ही नहीं मेरी जगह कोई सपा से भी चुनाव लड़ेगा तो उसकी पूरी मदद होगी। यही सपा बसपा गठबन्धन का तकाज़ा है। सपा नेताओं को भी ऐसा ही सोचना होगा।

आफताब आलम ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि  उसके 5 साल के शासनकाल में गरीब, किसान और मध्यम वर्ग काफी परेशान हुआ,  युवाओं की नौकरियां मिलनी बन्द हुई, दलितों, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हुए। उन्होंने सवाल उठाया कि मोदी सरकार 5 सालों में कौन सा बेहतर काम किया, जिसके नाम पर उसे जनता वोट दे।

अंत में उन्होंने कहा कि जनता को इस बात को ध्यान में रखते हुए चुनाव में भाजपा को जवाब देना होगा। कार्यक्रम में राम मिलन भारती, राजराम लोधी, लवकुश निषाद, त्रिलोकी नाथ, प्रेम नारायण, सुरेन्द्र मिश्र, अमरेश पाल, अरविन्द, मुनीराम राजभर, शुभकरन, सजाउद्दीन, डॉ. ओमप्रकाश, अमजद, हरिराम भारती, दान बहादुर, परवेज़, मनोज मित्तल, वंशराज, मास्टर, पी.आर. आजाद, विभूति निषाद, प्रेम चौहान, हीरालाल कुरील, नन्हे पाण्डेय आदि उपस्थित रहे |

 

Leave a Reply