अंतिम आदमी के पक्ष में व्यवस्था परिवर्तन की लडाई रही बसपा_ आफताब आलम

February 16, 2019 5:03 pm0 commentsViews: 213
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। बहुजन समाज पार्टी का राजनीति नजारिया बिलकुल स्पष्ट है। देश के तमाम राजनीतिक दल जहां मा़ सत्ता पक्ष को हटा कर अपना  शासन चाहते हैं वही बहुजन समाजपार्टी व्यवस्था परिवर्त कर समाज के अंतिम आदमी तक को विकास का भागीदार बनाना चाहती है। इसे गरीब जनता को समझना चाहिए। बसपा सत्ता की नहीं व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई लड़ रही है।

यह विचार शनिवार को इटवा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम गोबरहा, पेंदा नाकार बहादुरपुर, मानादेई में आयोजित जनसभाओं में बसपा नेता और डुमरियागंज लोकसभा सीट के बसपा प्रभारी/प्रत्याशी आफताब आलम ने व्यक्त किया। सभा का आयोजन क्षेत्रीय जनों की मांग पर किया गया था। इस मौके पर उन्होंने पुलवामा के शहीद जवानों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की।

सभा को सम्बोधित करते हुए आफताब आलम ने लोगों से कहा की बसपा का एजेंडा साफ है। वह दलितों, पिछडों, अल्पसंख्यकों के साथ समाज के हर वर्ग के कमजोर लोगों के बीच खुशहाली लाने को प्रतिबद्ध है। हमारी राष्ट्रीय नेता बहन मायावती जी का साफ मानना है कि समाज के कमजोर वर्ग को अधिक अवसर मिलें। अन्य राजनीतिक दल धन्ना सेठोंसे मिल कर राजीतिक गणित बनाते हैं।

‘आफताब आलम ने कहा कि बसपा सामंतवाद की विरोधी है। आज भी गांवों में सामंती रवैया कायम है, जिसे तोडने और गरीब का सम्मान बढ़ाने की जरूरत है। बहलजी के राज में गुंडे या तो जेल में रहते हैं या प्रदेश छोड़ कर बाहर भाग जाते हैं। जिससे कमजोर आदमी समाज में शांति से रहता है। उन्होंने कहा कि बसपा के राज में कभी दंगे नहीं होते, जिससे अकलियत समाज भयमुक्त होकर चलता है। उन्होंने अंत में लोगों से बसपा के समर्थन की अपील भी की।

सभा में इटवा के पूर्व प्रत्याशी अरशद खुरशीद ने कहा कि भाजपा राज में इटवा के कभी परेशान किये जा रहे है। अगले चुनाव में भाजपा को हराइये. फिर परेशान करने वालों को बसपा जेल भेजेगी। इसके लिए हम सब बसपा के लोग प्रतिबद्ध है।

इन सभाओं में इटवा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी हाजी अरशद खुर्शीद, पी.आर.आजाद, राममिलन भारती, दिनेश चन्द्र गौतम, राम यज्ञ गौतम, पेशकार पासवान, अंगदराज, सेराज अहमद, रामअचल गौतम, इकराम खान, इरशाद भाई, नजरे आलम प्रधान, प्रलादग्री, सुभाष गौतम प्रधान, मुबारक अली, राधेश्याम, विगल प्रसाद, सदरू भाई, पप्पू चैरसिया, शमीम अहमद, ज्वाला प्रसाद राजभर, हरिहर मौर्य,परवेज अहमद, भुललुर प्रसाद, आदि उपस्थित रहे।

 

 

 

(127)

Leave a Reply


error: Content is protected !!