आम जनता को अपराधी न बनाये जोगिया पुलिस- अखण्ड प्रताप सिंह

April 2, 2024 10:29 PM0 commentsViews: 437
Share news

अजीत सिंह 

सिद्धार्थनगर। जोगिया पुलिस द्वारा फर्जी तरीके से ग्रामीणों को फंसाने के मामले का संज्ञान लेकर विश्व हिन्दू महासंघ के प्रदेश मंत्री अधिवक्ता अखण्ड प्रताप सिंह ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर जोगिया पुलिस के ऊपर कार्यवाही किये जाने एव फर्जी आरोप से ग्रामीण राजकुमार व अन्य सभी को दोष मुक्त किये जाने का मांग किया है।

श्री सिंह ने कहा है कि जोगिया थाने के पुलिस की कार्यप्रणाली इन दिनों सुर्खियों में है। आचार संहिता लागू होते ही जोगिया कोतवाली की पुलिस मनमानी रवैये पर उतारू हो गई है। जोगिया उदयपुर थाना क्षेत्र के विशुनपुर निवासी राजकुमार को फर्जी तरीके से चाकू रखने का आरोप लगाकर चालान कर दिया है। पीड़ित राजकुमार ने पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थनगर को नोटरी शपथ प्रार्थना पत्र पर बयान देकर न्याय की गुहार लगाई है।

दिये गए नोटरी शपथ पत्र पर राजकुमार ने बताया कि 17 मार्च को जोगिया उदयपुर थाने की पुलिस टीम ने शराब की दुकान पर छापा मारा वहीं खड़ी मेरे पिता जी के नाम से रजिस्टर मोटरसाइकिल की तत्काल पेपर न दिखा पाने के कारण मोटरसाइकिल थाने पर उठा ले गए और यह कहा गया कि कल सुबह थाने पर आना गाड़ी का पेपर फिर गाड़ी मिल जायेगी। जिसके क्रम में राजकुमार अपने दो साथियों के साथ थाने पर मोटरसाइकिल लेने 18 मार्च को सुबह लगभग 10 बजे गया और पेपर दिखाने पर एक सादे पेपर पर साइन करवाकर मोटरसाइकिल मुझे सौंप दी गई। फिर मैं अपने दुकान पर आकर अपने दिनचर्या के काम अंडा बेचने के काम पर लग गया।

पीड़ित राजकुमार को ज्ञात होता है कि उसकी चालान चाकू रखने के जुर्म में कर दी गई है। जबकि फर्द मे जो समय दिखाया गया है उस समय प्रार्थी राजकुमार अपने दुकान पर ठेले पर सामग्री बेच रहा था जो कि सीसी टीवी फुटेज में साफ साफ दिख रहा है। इस तरह से पुलिस द्वारा फसाये गए फर्जी आरोप से मुक्त दिलाने की मांग पुलिस अधीक्षक से राजकुमार ने किया है।

Leave a Reply