आखिर डुमरियागंज के युवक ने आंध्र प्रदेश में अपने गांव के दोस्त का कत्ल क्यों किया?

April 1, 2021 2:23 pm0 commentsViews: 936
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज तहसील के ग्राम जमौता निवासी 22 साल के मुहम्द वजीर और उसी गांव के 18 साल के इन्द्रजीत आपस में दोस्त थे। दोनों ही यहा से दो हजार किमी. दूर बेंगलूरू में एक साथ भवन पेंटिंग का काम करते थे। दोनों एक ही कमरे में साथ साथ रहते भी थे। अचानक चार पांच दिन पूर्व इन्द्रजीत ने वजीर का कत्ल कर दिया। इस घटना से लोग दहल उठे हैं और हर किसी के मन में यह सवाल गूंज रहा है कि आखिर उसने अपने दोस्त की हत्या क्यों की?

खबर मिली है कि बेंगलूरू में काम के दौरान वजीर और इन्द्रजीत को पिछले दिनों प्लास्टर आफ पेरिस का अच्छा काम आंध्र प्रदेश के बल्लारी जिले में मिल गया था। दोनों वहीं पर रह काम कर रहे थे। अचानक होली के दिन रात में इन्द्रजीत की लोहे के राड से सर तोड़ कर हत्या कर दी और वहां से फरार हो गया। घटना की खबर सुन कर परिजन वहां गये और वजीर की लाश वहीं दफन कर चले आये। उस के घटना के बाद से वहां की पुलिस इंद्रजीत की तलाश में है और गांव में मृतक वजीर और हत्याभियुक्त दोनों के घर वालों का रो रोकर बुराहाल है।

आखिर क्यों मारा इंद्रजीत ने वजीर को? इस बारे में दोनों के ही घर वाले कुछ नहीं बता पाते। वजीर ही इन्द्रजीत को लेकर गया था। दोनों के रिश्ते अच्छे थे। फिर अचानक यह वारदात होने का मतलब क्या हो सकता है? पुलिस इसे कई एंगिल से देख रही है। उसका मानना है कि इसका कारण बेंगलूरू में कोई लड़की का मामला हो सकता है, जिसे लेकर दोनों में प्रतिद्धंदिता हुई हो। इसके अलावा यह भी संभव है कि प्लास्टर आफ पेरिस के काम में पैसे को लेकर दोनों में कोई झगड़ा हुआ हो, जिसके फलस्वरूप यह घटना घट गई हो। इसके अलावा तो प्रत्यक्ष रूप से अन्य कारण नजर नहीं आता।
फिलहाल दोनों घरों में कोहराम मचा है। वजीर के सरल व्यक्तित्व को याद कर उसके पिता बशीर औरमां के आंसू अब तक नहीं थम रहे हैं वहीं वजीर की हत्या का आरोपी इंद्रजीत घर का इकलौत लड़का है। इसलिए उसके दादा, दादी बिलख रहे हैं। फिलहाल बेल्लारी पुलिस मामले की जोच के साथ साथ इंद्रजीत की तलाश में लगी हुई है।

(900)

Leave a Reply


error: Content is protected !!