फिर बजा डॉ भास्कर शर्मा की योग्यता का डंका, मिला दो और सम्मान –

December 13, 2019 12:35 pm0 commentsViews: 488
Share news

—बना चुके हैं 25 दर्जन से अधिक विश्व रिकॉर्ड, होम्योपैथी और साहित्य की लिख चुके हैं 14 दर्जन पुस्तकें

 

एम, आरिफ

इटवा, सिद्धार्थनगर। अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ भास्कर शर्मा  ने अपनी योग्यता का डंका बजाने में एक बार फिर कामयाब हुए हैं। उन्हें १० दिसम्बर को विश्व हिंदी साहित्य सृजन सम्मान तथा विश्व हिंदी साहित्यरथी सम्मान से नवाजा गया है। यह सम्मान विश्व हिंदी संस्थान कनाडा द्वारा दिया गया है। विश्व हिंदी संस्थान कनाडा के अध्यक्ष प्रोफेसर सरन घई ने प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया ।

बताते चलें कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड सहित सैकड़ों विश्व रिकॉर्ड बना चुके डॉ भास्कर शर्मा सिद्धार्थनगर ही नहीं अपितु पूरे विश्व में अपनी मेधा का डंका बजा रहे हैं। सैकड़ों पुस्तकों का सृजन कर चुके डॉ भास्कर शर्मा अब तक सैकड़ों राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय सम्मान पा चुके हैं। इससे उनकी साखा निरंतर बढ़ती जा रही है।

पूर्व में डॉक्टर भास्कर शर्मा को   डॉक्टर सैमुअल हैनीमैन इंटरनेशनल अवॉर्ड लंदन, वरिष्ठ होम्योपैथिक इंटरनेशनल अवॉर्ड सिंगापुर, डॉ एलेन इंटरनेशनल अवॉर्ड थाईलैंड, डॉक्टर कैंट इंटरनेशनल अवॉर्ड मलेशिया, ग्लोबल आइकॉन पर्सनैलिटी ऑफ होम्योपैथी दुबई, होम्योपैथी शिरोमणि इंटरनेशनल अवॉर्ड मस्कट, स्टार आफ होम्योपैथी अवॉर्ड लंदन, होम्यो भूषण  काठमांडू, होम्योपैथी श्री गोवा, होम्योपैथी रत्न चिकित्सा रत्न दिल्ली आदि  से सम्मान प्राप्त कर चुके हैंl डॉ भास्कर शर्मा को सम्मान मिलने पर सिद्धार्थनगर के वरिष्ठ एडवोकेट  राकेश कुमार सिंह, वरिष्ठ एडवोकेट आई. के.चतुर्वेदी, एडवोकेट आलोक रंजन उपाध्याय, डॉ अजीत शर्मा ,डॉक्टर एम शर्मा, डॉ नुरुल हुदा, पुखराज मिश्रा,आदि लोगों ने बधाइयां दी l

 

(274)

Leave a Reply


error: Content is protected !!