लॉकडाउन में किसी व्यक्ति के सामने खाने का संकट नहीं पैदा होगा- जगदम्बिका पाल

April 3, 2020 4:55 pm0 commentsViews: 76
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद जगदंबिका पाल ने कहा कि लॉक डाउन के कारण जो मजदूर काम के अभाव में घर बैठ गए हैं और उनके सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है ऐसे लोगों के लिए योगी सरकार ने उनके खाते में ₹1000 डालने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित किया है कि लॉक डाउन के कारण किसी भी व्यक्ति के सामने खाने का संकट पैदा नहीं होने पाएगा।

श्री पाल ने कहा कि प्रदेश में अभी कोई दिहाड़ी मजदूर जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उसे सस्ते गल्ले की दुकान से मुफ्त राशन उपलब्ध नहीं हो पाया है ऐसे मजदूरों के खाते में तत्काल जिलाधिकारी के माध्यम से ₹1000 भेजने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चाहे ग्रामीण क्षेत्र अथवा नगरी क्षेत्र का मजदूर है उसे भरण पोषण के लिए सरकार द्वारा ₹1000 प्रतिमाह मिलेगा।

श्री पाल ने कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र में अंतोदय मनरेगा पंजीकृत श्रमिक एवं पेंशन धारक को छोड़कर जो पात्र गृहस्थी राशन कार्ड धारक, दिहाड़ी मजदूर, निराश्रित तथा नगरीय क्षेत्र में रिक्शा चालक, ठेले वाले, पल्लोदार, टेंपो ड्राइवर या नीआश्रित महिला आदि सभी को अपना नाम पता तथा बैंकों का खाता नंबर सेक्रेटरी एवं वीडियो के माध्यम से जिलाधिकारी को भिजवाए उन्हें तत्काल उनके खाते में ₹1000 प्रतिमाह दिया जाएगा।

अंत में श्री पाल ने कहा कि सिद्धार्थनगर के ग्रामीण और नगरीय लोगों के मजदूरों का नाम वीडियो व अधिशासी अधिकारी के माध्यम से जिलाधिकारी के कार्यालय में प्रेषित करवाने पर उनके खातों में ₹1000 राज्य सरकार द्वारा डाला जाएगा। उन्होंने सभी से अपील किया है कि कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक डाउन में कोई भी व्यक्ति और परिवार को खाने का संकट नहीं होगा उन्होंने कहा कि इसीलिए मोदी जी ने पंजीकृत श्रमिकों के खाते में 31000 करोड़ रुपए देने का निर्णय लिया है तथा योगी सरकार ने ऐसे लोगों को भी प्रतिमाह एक ₹1000 देने का काम करेगी।

(58)

Leave a Reply


error: Content is protected !!