डुमरियागंज ब्लॉक प्रमुख प्रकरण: योगी ने सूबे के राज्याल का हुक्म भी नहीं माना, जेल भरेंगे सपाई

August 29, 2017 12:26 PM1 commentViews: 1732
Share news

––– मिठ्ठू यादव प्रकरण को गंभीर मानते हुए राज्यपाल ने पत्र लिख कर योगी को दिया था निर्देश

––– अगर डुमरियागंज और सपा को न्याय न मिला तो यूपी की जेलों को पाट देंगे सपाई– घिसियावन यादव

नज़ीर मलिक

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज ब्लॉक प्रमुख मिट्ठू यादव के खिलाफ चल रहे अविश्वास प्रस्ताव प्रकरण को प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने इस सिलसिले में मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भी लिखा है। ये और बात है कि उनके पत्र का सरकार तनिक भी संज्ञान नहीं ले रही है। अब समाजवादी पार्टी का नेतृत्व इस मामले में प्रतिनिधिमंडल लेकर राज्यपाल से मिलने की तैयारी कर रहा है।

दरअसल डुमरियागंज प्रमुख प्रकरण में उत्तर प्रदेश सरकार के नेता विरोधी दल अहमद हसन ने राज्यपाल नाइक को पत्र के माध्यम सा अवगत कराया था कि सत्ताधारी दल प्रशासन से मिल कर बीडीसी मेम्बरों पर दबाव बना कर डुमरियागंज ब्लाक प्रमुख मिट्ठू यादव को जबरन हटाना चाहता है।राज्यपाल ने इसका संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी को सीधा पत्र लिखा और मामले का संज्ञान ले कर न्याय का निर्देश दिया।

इस बारे में सपा ज़िल उपाध्यक्ष अफसर रिज़वी कहते है कि  18 अगस्त को राज्यपाल के निर्देश के बावजूद न्याय की कौन कहे प्रशासन ने अविश्वास पर चर्चा हेतु बुलाई गई बैठक ही स्थगित कर दी। अब सपा के लोग नई तिथि घोषित करने की मांग कर रहे हैं, मगर प्रशासन दूसरी तिथि घोषित नहीं कर रहा है। सपा नेता घिसियावन यादव कहते हैं कि सपा संघर्षों की पार्टी है। हमें दबाने का प्रयास हुआ तो समाजवादी अपनी तादाद से यूपी की जेलों को पाट देंगे।

अफसर रिज़वी कहते है कि अब सपा इसके खिलाफ और शिद्दत से लड़ेगी। शीघ्र ही प्रदेश सपा का एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल से मिल कर उन्हें सारी स्थिति से अवगत कराएगा और प्रशासन के ज़िम्मेदार लोगो के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगा। अगर उस पर भी न्याय नही मिलेगा तो सपा ऐसे मामलों को मद्दा बना कर प्रदेश व्यापी आंदोलन पर विचार करेगी।

 

 

 

 

1 Comment

Leave a Reply