महाराजगंजः पुलिस ने कार्रवाई किया होता तो बच सकती थी हरिराम यादव की जान

August 11, 2020 3:17 pm0 commentsViews: 1270
Share news

शिव श्रीवास्तव

हरिराम यादव का रोता बिलखता परिवार

महाराजगंज। जिले के बृजमनगंज थाना क्षेत्र में मारपीट की घटना में एक बेकसूर घायल की लखनऊ में इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में यदि मुकामी पुलिस ने अपना कर्तव्य   निभाया होता तो उस बेकसूर की जान बच सकती थी। पुलिस की इस उदासीनता की निंदा हो रही है। वैसे पुलिस मुकदमा लिख कर कार्रवाई की बात कह रही है।

जानकारी के अनुसार रविवार की शाम बृजमनगंज थाने के ग्राम सभा फुलमनहा टोला हरनामपुर निवासी सुरेंद्र जायसवाल व गुड्डू सिंह के बीच किसी बात को लेकर मारपीट हो रही थी। बताते हैं कि उसी दौरान डेयरी फार्म से दूध लेकर ग्राम सभा बेला निवासी  हरिराम यादव वहां पहुंच गए और मामला जानने कि कोशिश करने लगे। यहां यह बताना जरूरी है कि विवाद और मारपीट की घटना सुरेन्द्र जायसवाल के घर पर हुई। रात आठ जे हुई घटना के समय जब हरिराम यादव वहां दूध सप्लाई करने पहुंचा तो दूसरे पक्ष जो गुड्उू सिंह का था, उसने समझा की हरिरम यादव सुरेन्द्र की मदद में आया है, लिहाजा उस पक्ष ने हरिराम को भी जम कर पीट  दिया और वह रणासन्न हो गया।

मारपीट होने के दौरान पर हरिराम व सुरेन्द्र सहित तीन लोग बुरी तरह से घायल हो गए। जिन्हें इलाज के लिए बनकटी अस्पताल ले जाया गया। जहां उनकी हालत गंभीर होने के कारण उन्हें मेडिकल कालेज गोरखपुर भेज दिया गया। फिर वहां से लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया। लखनऊ में एक प्राइवेट अस्पताल में सोमवार की शाम इलाज के दौरान हरिराम यादव की मौत हो गई।

इस घटना के बाद से लोगों में चर्चा शुरू हो गई। दरअसल मारपीट की घटना से पूर्व दोनों पक्ष में झगड़ा हुआ था मगर पुलिस ने दोषी को दंड देने के बजाए दोनों पक्षों को डांट डपट कर उनके बीच सुलह करा दिया था। मगर दबाव में कराई गई सुलह निष्फल हुई और थाने से लौटने के बाद दोनों पक्षों में जम कर मारपीट हुई, जिसमें हरिराम यादव बलि का बकरा बन गया। सबल पक्ष ने यह समझा कि हरिराम सुरेन्द्र जायसवाल की मदद में आया है।

 बहरहाल मंगलवार की सुबह हरिराम की लश सीधे बुजमनगज थाने पर आई तो पुलिस परेशन हो गई। यदि उसन रविवार को पहले विवाद के दौरान सख्त कदम ठाया होता तो     दुबारा मारीट की नौबत नही आती।इस प्रकार पुलिस की एक ारवाही से एक व्यक्ति क जाम चली गई।

इस प्रकरण में मृतक हरिराम के पुत्र संदीप ने गुडडू  सिंह व उस चार भाइयों पिंटू सिंह, अमन सिंह, आदर्श सिंह व सूरज सिंह के खिलाफ हत्या करन की तहरीर दी है। इस बारे में थानाध्यक्ष संजय दुबे ने बताया कि शव को पास्टमार्टम के लिए भज दिया गया है। मुकदमा तहरीर के आधार पर दर्ज किया जायेगा।

(1198)

Leave a Reply