वर्तमान सरकार ने किसानों, जवानों व मजदूरों पर अत्याचार की सीमाएं तोड़ दीं- आफताब

October 16, 2018 5:11 pm0 commentsViews: 185
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। लोकसभा डुमरियागंज के बसनर प्रभारी आफताब आलम ने कहा है वर्तमान शासन ने जनता पर अत्याचार की सारी सीमाएं तोड़ दीं हैं। ऐसे में जनता को चाहिए कि वे इस जनविरोधी सरकार का तख्ता उखाड़ कर नई सरकार के गठन में योगदान दें। असल में जिस देश की जनता जागती है, उसी देश में विकास की शीतल हवा मिल सकती है।

डीजल मूल्य में वृद्धि किसानों के साथ मजाक

मंगलवार को शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बुकहनिया, नौडिहवां, परसिया, छतहरी, मल्हौरा, मदरहिया, अवदही, धनौरा, ढबरुआ, पथरदेइयां, भैंसहवां,  सहित दो दर्जन गावों में जनसम्पर्क और नुक्कड़ सभाओं के दौरान आफताब आलम ने कहा कि इस सरकार ने दस दिन पहले डीजल का दाम ढाई रूपया घटाया और बाद में रोजाना उसके मूल्य में थोड़ा थोड़ा वृद्धि कर दस दिन में फिर से ढाई रूपया बढ़ा दिया। इस प्रकार की हरकतें कर यह सरकार जनता और किसानों के साथ क्रूर मजाक कर रही है।

आजादी के बाद की सबसे जनविरोधी सरकार

बसपा नेता आफताब आलम जो पार्टी के घोषित लोकसभा उम्मीदवार भी हैं, ने कहा कि आजादी के बाद की यह सबसे बड़ी जनविरोधी और किसान विरोधी सरकार है। एक तरफ यह पूंजीपतियों को महंगाई बढाने की पूरी छूट दिये हुए है। दूसरी तरफ किसानों को उनकी पैदावार का लाभकरी मूल्य देने से भाग रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने शिक्षा के निजीकरण को बढ़ावा देकर किसान के बच्चों की शिक्षा महंगी कर दिया है।

छोटीे सरकारी कर्मी भी त्रस्त हैं

उन्होंने कहा कि आज सरकारी कर्मचारी भी आंदोलित हैं। अंगनबाडियां, शिक्षा मित्रों जैसे छोटे कर्मियों का का शोषण हो रहा है। ये युवा भी किसानों के ही घर के हैं। पूजीपतियों के घर के लोग इन नौकरियों में नहीं हैं।नलकूप चालकों, की अलग परेशानियां हैं। डाक विभाग की मांगे बहुत दिन से लम्बित हैं। इस सब मुश्‍किलों का सम्बंध अप्रत्यक्ष तौर पर किसानों से ही है। किसान खून के आसूं रो रहा है। मजदूर तबके को मुजरात से मार कर खदेड़ा जा रहा है और मोदी साहब को इसकी फिक्र ही नहीं है।

आप सत्ता बदलें, हम व्यवस्था बदल देंगे

अंत में आफतब  आलम ने जनता से अपील किया कि इस सरकार को सबक सिखाने के लिए जरूरी है कि आगामी चुनाव में उसे हराया जाये। उन्होंने कहा कि आप सरकार बदलो हम व्यवस्था बदल कर दिखायेंगे। सभाओं के अलावा उन्होंने गांवों के दुर्गा मंडपों पर पहुच कर देवी दर्शन किया और सभी से त्यौहार को पूरी भव्यता से मनाने की अपील भी की।

दौरे में उनके साथ त्रिलोकी नाथ तिवारी, अमरेश पाल यादव, राजाराम लोधी, मुनिराम राजभर, राममिलन भारती, दिनेश चन्द गौतम, अमजद अली, डॉ. ओमप्रकाश, सुभकरन चौधरी, सजाउद्दीन अन्नू, परवेज़ अन्सारी, डा. सरफराज, विभूति निषाद, प्रेम चौहान, रामदेव चौहान, हीरालाल कुरील, मो. हसन, सुनील मिश्रा, के.पी. पासवान, रामकृष्ण, अवधेश सहानी, दशरथ निषाद, राजू राजभर, अब्दुल हफीज, शौकत अली आदि लोग मजूद रहे।

 

(86)

Leave a Reply


error: Content is protected !!