छूट्टा पशुओ को लेकर कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन, किसान बोले- योगी मोदी को चुनाव में सबक सिखा देंगे

January 5, 2019 3:49 pm0 commentsViews: 410
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। यूपी सरकार की पशु नीति को लेकर किसानों को गुस्सा अब सर चढ़ कर सरकार के खिलाफ बोलने लगा है।  अपनी फसलों की तबाही देख अब गो प्रेमी किसान भी  सरकार के खिलाफ गुस्से का इजहार करने लगे हैं।  शुक्रवार को किसानों ने सैकड़ों छुट्टा पशुओं यानी आवारा धूम रहे गाय बैल को हांक कर कलक्ट्रेट में ले आये और प्रदर्शन किया। किसानों का कहना था कि गो रक्षा के नाम पर यूपी सरकार ने उन्हें बरबाद करने के कगार पर ला खड़ा कर दिया है ।

सैकडों गोवंशियों को हांक कर कलक्टेट में प्रदर्शन करने आये किसानों की बात सुनने वाला कोई नहीं था। किसानों का कहना था कि अगर योगी आदित्य नाथ मुख्यमंत्री के रूप में गोवंश की रक्षा की सोचते है तो कोई दिक्कत नहीं। लेकिन किसान धरती पुत्र है, योगी को इन पशुओं से धरती पुत्रों की रक्षा करनी चाहिए। मगर वा ऐसा नहीं कर रहे। जिसका खामियाजा उन्हें लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा।

प्रदर्शन में आये अहिरौली गांव के विजय यादव नामक किसान का कहना था कि हम भी गोवंश का सम्मान करते हैं। लेकिन अपे खेत की बर्बादी हम कैसे देख सकते हैं। सीएम योगी को चाहिए कि वह आवारा धूम रहे गाय बछड़ों को को नियंत्रित करें, अन्यथा चुनाव का अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे। सनई क्षेत्र के किसान ब्रह्मानंद मिश्र का कहना था कि लोग अनुपयोगी पशु बेच नहीं पा रहे, उनके लिए सरकार शरणालय बना नहीं पा रही तो आखिर हम अपनी फसन की बर्बादी कब तक सहन करें।

लीला वती के पास कुल 18 मंडी खेते थे। उसे आवारा पशुओं ने चर लिया। वह कहै आग लगे ऐसी सरकार को जो हमरी रोटी छीन रही है तो पढ़े लिखे किसान राजन सिंह कने बताया कि इनसे खेत तो नष्ट हो ही रहे हैं, मार्ग दुर्घटनाएं भी बढ रही है, लोग आये दिन मर रहे हैं। कब तक बर्दाश्त करें। उन्होने गुस्से में कहा चुनाव आने दें, पता चल जायेगा कि गाय बड़ी है या धरती पुत्र किसान?

सिद्धाथनगर थाने के मंदिर में घुसे एक गोवंश के तांडव का जिक्र करते एक सिपाही ने बताया कि वहां काफी देर तक उत्पात रहा। उसने आगे कहा कि हम भी किसान के बेटे हैं। योगी राज में इन आवारा पशुओं ने  सबका जीना मुहाल कर दिया है। वक्त आने दीजिए, यही किसान इस सरकार की सत्ता में वापसी मुहाल कर देगा।

(281)

Leave a Reply


error: Content is protected !!