हर पीडित की मदद के लिए सरकार प्रतिबद्ध, ध्वस्त मकानों पर 95 हजार मुआवजा मिलेगा- योगी आदित्य नाथ

September 4, 2021 5:38 pm0 commentsViews: 1014
Share news

–मुख्यमंत्री ने कहा 400 गांवों की फसलें चौपट, 5 से 12 तक जलजनित रोगों के खिलाफ चलेगा अभियान

अजीत सिंह

 

सिद्धार्थनगर। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले की सभी तहसीलों को बाढ़ग्रस्त बताते हुए कहा है कि यों तो जनपद की पाँचों तहसीलें बाढ़ से प्रभावित हैं। जिसमें सर्वाधिक प्रभावित तहसील  डुमरियागंज व नौगढ़ हैं। बाढ़ से लगभग दो लाख आबादी प्रभावित है। सभी बाढ़ पीड़ित परिवारों को राहत और बचाव के लिए प्रदेश सरकार ने पहले से ही जिला प्रशासन को आवश्यक निर्देश जारी कर दिया था। ध्वस्त मकानों के लिए तत्काल 95 हजार मुआवजा देने के निर्देश दे दिये गये हैं।

सीएम योगी आज सिद्धार्थनगर के बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों के दौरे व हवाई सर्वेक्षण पर थे। वह डुमरियागंज तहसील मुख्यालय व सदर तहसील के उस्का बजार कस्बे में बाढ़ पीडितों को राहत वितरण के बाद मीडिया से बात कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि जनपद की राप्ती, बूढ़ी राप्ती, कूड़ा व अन्य नदियों के कारण यहाँ पर हर वर्ष बाढ़ आती है।इसलिए बाढ़ बचाव से सम्बंधित जितने भी कार्य होने थे उन सभी 11 कार्यो को समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ाने का उनकी सरकार ने प्रयास भी किया है।

लेकिन पिछले 12-15 दिनों से लगातार यहां और नेपाल में लगातार बारिश होने के कारण राप्ती नदी खतरे के निशान से लगभग दो मीटर ऊपर बह रही है, जो चिंताजनक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे ही बूढ़ी राप्ती, कूड़ा नदी और भी जो अन्य छोटी बड़ी नदियों जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर होने के कारण एक बड़ी आबादी इस बाढ़ की चपेट में आई है।

उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को समय से बचाव व राहत कार्य के लिए प्रदेश सरकार ने व्यवस्था सुनिश्चित की। उन्होंने कहा कि बाढ़ से मुकाबले के लिए एनडीआरएफ टीम, ब्लड यूनिट आदि का प्रबंध सिद्धार्थनगर समेत हर जनपदों में कर दिया गया है, जो बचाव एंव राहत कार्यो में अपनी योगदान दे रही है। इससे पूर्व मुख्यमत्री ने प्रतीक रूप में एक दर्जन पीड़ितों को राहत सामग्री के पैकेट वितरित किया। उस्का बाजार में उन्होंने एक दो वर्षीय बच्ची को हाथ से पुचकारा भी। इसके बाद वे बाढ़ ग्रस्त हालत का जायजा लेने के लिए हेलीकाप्टर से जिले के हवाई सर्वेक्षण पर निकल गये।

उन्होंने कहा कि 400 ग्राम पंचायतों में फसल को नुकसान पहुंचा है। किसानों व बाढ़ पीड़ितों के प्रति हमारी पूरी संवेदना है। उन्होंने कहा कि प्रशासन को सर्वे कर मुआवजा देने के निर्देश दिए हैं। ध्वस्त मकोनों का 95 हजार मुआवजा दने के आदेश दे दिए गये हैं।  बाढ़जनित बीमारियां को रोकने के लिए पांच से 12 सितंबर तक विशेष अभियान चलाने का आदेश दिया गया है।, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ नगर विकास, महिला विकास व ग्राम्य विकास विभाग मिलकर सभी बाढ़ पीड़ित परिवार की स्क्रीनिग करेगा और स्वच्छता, शुद्ध पेयजल व सैनिटाइजेशन की व्यवस्था सुनिश्चित करेगा।

मुख्यमंत्री के डुमरियागंज के कार्यक्रम में शिक्षामंत्री सतीश दिवेद्वी, सांसद जगदम्बिका पाल, विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह, ज़िला पंचायत अध्यक्ष शीतल सिंह, ब्लॉक प्रमुख डुमरियागंज व भनवापुर शशिकला ओझा व लवकुश ओझा, सभासद राजीव अग्रहरि, नरेंद्र तिवारी, अजय पांडेय, रामकुमार, डॉ. संजय गौतम, रमेशधर दिवेद्वी, संजय मिश्रा सहित आदि लोग मौजूद रहे।

वही उसका में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, सांसद जगदम्बिका पाल, भाजपा जिलाध्यक्ष गोविन्द माधव, सदर विधायक श्यामधनी रही, विधायक चौधरी अमर सिंह, फतेबहादुर सिंह, विपिन सिंह, कन्हैया पासवान, आशीष शुक्ला, सत्य प्रकाश राही, ओमकार पांडे, कोषाध्यक्ष् ओमप्रकाश यादव, नीतेश पाडेय, मनोज चौबे, कुलदीप द्विवेदी, एसडीएम विकास कश्यप, एसडीएम अनिल कुमार, जिला विकास अधिकारी शेषमणि सिंह, एडीओ आइएसबी विवेक मणि त्रिपाठी, सहित भारी संख्या में बाढ़ पीड़ित लाभार्थी व भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

 

(908)

Leave a Reply


error: Content is protected !!