दर्दनाकःगया था पूजा के फूल तोड़ने और अर्थी के फूल ले आया

October 5, 2015 7:05 am0 commentsViews: 145
Share news

नजीर मलिक

images333
तेरह साल का शिवांस हंसी खुशी घर से निकल कर पूजा के लिए फूल तोड़ने गया था, लेकिन कुदरत की बेरहमी देखिए, एक टैंपो ने उसे ऐसी टक्कर मारी कि उसके हाथ के फूल अर्थी के फूल में तब्दील हो गये। शिवांस की दर्दनाक मौत से इलाके में कोहराम मचा है।

सिद्धार्थनगर- बर्डपुर मार्ग के बढ़या गांव निवासी संतराम का पुत्र शिवांस सुबह घर से पूजा के फूल तोड़ने के लिए निकला। वह फूल लेकर वापस लौट रहा था। अचानक नौगढ़ की तरफ से आ रही एक टैंपों ने उसे सीघी टक्कर मार दी।
हादसे के बाद चालक अपना टैंपों छोड़ कर भाग निकला। शिवांस को फौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। गांव वाले बताते हैं कि वह बहुत बुद्धिमान लड़का था।

शिवांस की मौत पर उसके घर में कोहराम मचा है। पूरा परिवार रो रो कर बेहाल है। मां की हालत पागलों सी हो गई है। बस वह एक ही बात कहती है कि शिवांस को लेकर उसने बहुत सपने देखे थे। उन सपनों का क्या होगा। गांव वाले भी बहुत उदास हैं।

घटना की खबर पाकर एसओ सदर शिवाकांत मिश्रा मौके पर पुंचे और उन्होंने दबिश देकर बजहा बाजार के रहने वाले टैंपों चालक विनय को गिरफृतार कर लिया।शिवांस की लाश पोस्टमार्टम के लिए भेज दी गई है। उसके घर में मातम और पूरे गांव में हादसे को लेकर शोक है।

(1)

Leave a Reply