चिनकू यादव के खिलाफ पहला हमला, ब्लाक प्रमुख पिता के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश

July 27, 2017 2:22 PM0 commentsViews: 1468
Share news

 

––– सपा सरकर की पराजय के साथ शुरू हो गई भीं चिनकू यादव पर हमले की तैयारियां

–––  अगली बार चिनकू के करीबी जिला पंचायत अध्यक्ष को हटाने के लिए चलेगी मुहिम

 

नजीर मलिक

ब्लाक प्रमुख मिठ्ठू यादव और उनके खिलाफ ज्ञापन देते बीडीसी मेम्बर

सिद्धार्थनगर। जिले के मजबूत सपा नेता राम कुमार उर्फ चिनकू यादव के ऊपर पहला हमला शुरू हो चुका है। आज ११ बजे भाजपा के संरक्षण में भारी तादाद में जुटे बीडीसी मेंबरों ने उनके पिता मिठ्ठू यादव के खिलाफ डीएम को अविश्वास प्रस्तवाव देकर चिनकू विरोधी जंग की शुरूआत की। उम्मीद है कि इसी पखवारे मतविभाजन की तारीख तय कर दी जायेगी। मिठ्इू यादव वर्तमान में डुमरियागंज के ब्लाक प्रमुख हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक आज सुबह 11 बजे बीडीसी सदस्य मालती त्रिपाठी की अगुआई में 141 में से 98 सदस्यों ने डीम कुणाल सिलकू को नोटरी एफीडेविड के माध्यम से ज्ञापन सौपा। ज्ञापन में ब्लाक प्रमुख मिठ्ठू यादव पर विकास कार्य न करने व कार्यसंस्कृति को ठप करने का आरो लगाया। जिलाधिकारी ने ज्ञापन को स्वीकर करते हुए कहा कि वह शीघ्र ही मतविभाजन की कार्रवाई की तिथि घोषित कर देंगे।

141 में 98 बीडीसी हैं खिलाफ

दरअसल मालती यादव भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष नरेन्द्र मणि त्रिपाठी की पुत्रवधू हैं। यहा गौर तलब बात यह है कि चिनकू के विरोध में भाजपा के साथ बसपा के समर्थक भी पूरी शिद्दत से खड़े हैं। 50 से ज्यादा दलित और मुस्लिम बीडीसी मेंम्बरों ने उनके पिता और प्रमुख के  खिलाफ ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है। ज्ञापन पर कुल 98 बीडीसी मेंम्बरों के दस्तखत हैं। दावा है कि अभी और बीडीसी उनके खिलाफ आने वाले हैं।

बताते चलें कि सपा के शासन काल में राम कुमार उर्फ चिनकू  यादव की खूब चलती थी थी। उन्होंने अपने पिता पत्नी, भाई को तमाम पदों पर निर्वाचित तो कराया ही, अपने वाहन चालक को जिला पंचायत अध्यक्ष भी बनवा दिया। इसके बाद उनकी बढ़ती ताकत से उनके विरोधी नही उनकी पार्टी के लोग भी आशंकित हो गये थे। लेकिन गत चुनाव में  सपा की पराजय के बाद ही उन पर सियासी हमले की तैयारियां शुरू हो गयीं थीं। अविश्वास प्रस्ताव उसी की एक कड़ी माना जा रहा है।

अगली मुहिम जिला पंचायत की?

माना जा रहा है कि प्रमुख पद से पिता को हटाने के बाद उनके करीबी और जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ भी सही कदम उठाया जा सकता है। ज्ञापन देते समय भाजपा जिलाध्यक्ष राम कुमार कुंवार, भाजपा नेता राजू श्रीवास्तव, नरेन्द्र मणि त्रिपाठी, राजू पाल, कसीम रिजवी आदि भी हाजिर रहे। इस मौके पर बसपा नेता और पूर्व प्रमुख सलमान मलिक की उपस्थिति चर्चा का विषय रही।

यह धर्म निरपेक्षता पर हमला है

इस सिलसिले में चिनकू यादव से तो बात नहीं हो पायी, मगर उनके समर्थक इसे चिनकू पर नहीं धर्म निरपेक्षता पर हमला बता रहे हैं। उन लोगों का कहना है कि आज दूसरे दलों के कुछ स्थानीय मुस्लिम नेता  सपा  के प्रमुख को हटाने के लिए अपने मुस्लिम बीडीसी मेंम्बरों को भाजपा खेमे में भेज रहे हैं। उनकी यह हरकत सीघे सीधे णधर्म निरपेक्षता पर हमला है। अफसर रिज्वी का कहना है कि बसपा के लोग जिस प्रकार भाजपा की गोद में बैठ गये हैं वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। यहां की मुस्लिम आबादी और धर्मनिरपेक्ष लोगों को इसे याद रखना होगा।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply