शोहरतगढ़ः निकाय चुनावों में नवाब खान हो सकते है चुनावी रेस के ‘नवाब’

September 29, 2017 12:22 pm0 commentsViews: 707
Share news

अनीस खान

सिद्धार्थनगर, यों तो निकायों के चुनाव को लेकर शहरी  इलाक़ों की सियासी हलचलें तेज़ हो रही हैं, लेकिन शोहरतगढ़ नगर पंचायत में हियुवा नेता सुभाष कसौधन को घेरने की कवायद कुछ ज़्यादा ही तेज़ है। शहर के युवा बसपा नेता नवाब खान द्वारा भी चुनाव लड़ने के एलान के बाद यहां की सियासी बयार कुछ ज़्यादा ही गर्म हो गई है। माना जा रहा है कि वह अगले चुनावी रेस के डार्कहार्स बन सकते हैं।

शोहरतगढ़ के हिन्दू वाहिनी के नेता सुभाष कसौधन की पत्नी बबिता कसौधन वर्तमान में नगर पंचायत अध्य्क्ष हैं। इससे पहले भी ये पद इन्हीं के कब्जे में था। बबिता कसौधन के लगातार दो टर्म की चेयरमैनी के दौरान सुभाष ने जहां अपने जनाधार में वृद्धि की है, वहीं 10 सालों में उनके विरोधियों  के तादाद में भी वृद्धि हुई है। ऐसे में उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदियों के हौसले बुलंद हैं। इस बार समय पूर्व ही एक दर्जन उम्मीदवारों का सक्रिय हो जाना इसका सूचक है।

तकरीबन 7  हज़ार वोटरों वाली इस निकाय में वैश्य मतों का प्रभाव है।इसके अलावा स्वर्णकार,  मारवाड़ी समाज का वोट भी ठीक ठाक है। मुस्लिम मत भी 18 फीसदी से अधिक है। इस बार यहां से अनूप कसौधन    सुजीत अग्रहरि, मनोज मित्तल, सुभाष गुप्ता हिन्दू युवा वाहिनी, नन्दू गौड़  भाजपा, केसरी प्रसाद गुप्ता, बनवारी गुप्ता, शिव प्रसाद वर्मा आदि चुनाव लड़ने का मन बनाये हुए हैं। भावी उम्मीदवारों की सूची देख कर समझा जा सकता है कि सर्वाधिक विभाजन का खतरा वैश्य मतों में ही है। इसके अलावा मारवाड़ी समाज और स्वर्णकार समाज से भी एक एक उम्मीदवार हैं।

अगर हालात चुनाव में भी यही रहे तो बसपा नेता नवाब खान इस चुनाव में डार्क हॉर्स साबित हो सकते हैं।  नगर पंचायत मे मुस्लिम और दलित समुदाय के मत प्रभावी संख्या में हैं। बसपा का बैनर होने की वजह से अगर इन दोनों वर्गों के मत एकजुट होते हैं तो नवाब खान की स्थिति मजबूत हो सकती है और नगर पंचायत चुनाव में एक शक्तिशाली पक्ष बन सकते हैं। वैसे वे आर्थिक रूप से भी मजबूत हैं, इसलिए चुनाव लड़ने में कोई कोताही नहीं होगी।

इस बारे में नवाब खान का कहना है कि वे लम्बे अरसे से नगर के लोगों के बीच काम कर रहे हैं। उनके समर्थक समाज के सभी वर्गों में हैं। इसलिए उन्हें अपनी जीत का भरोसा है। उन्हें उम्मीद है कि यह भरोसा चुनाव में भी बरकरार रहेगा। उन्होंने लागों को विजय दशमी व मुहर्रम की बधाई देते हुए सभी से शांतिपूर्वक त्यौहार मनाने की अपील भी की है।



(9)

Leave a Reply


error: Content is protected !!