इटवा तहसील में जोड़-तोड़ के साथ दिल जीतने का फार्मूला रहा चुनाव में कारगर

November 3, 2015 2:14 PM0 commentsViews: 627
Share news

हमीद खान

चुनाव
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में विकास खंड इटवा, खुनियांव तथा भनवापुर के कुछ नामचीन जिला पंचायत प्रत्याशियों के चुनाव परिणामों से साफ जाहिर हो गया है कि चुनावी जोड़ तोड़ के साथ वोटरों का दिल जीतने के अन्य कई फार्मूले अक्सर कारगर साबित हो जाते हैं।

इटवा के वार्ड नम्बर 11 से ब्लाक प्रमुख रेनू जयसवाल के पति राजेन्द्र जायसवाल विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय के करीबी हैं। उनकी माता कैलाशी देवी यहां से जिला पंचायत प्रत्याशी थीं। राजेन्द्र जायसवाल के भाई दुर्गा जायसवाल इटवा के ग्राम प्रधान हैं।

यहां प्रत्याशियों में कांटे की टक्कर थी। बसपा और भाजपा प्रत्याशी काफी मजबूत थे। परन्तु राजेन्द्र जयसवाल का वोटरों के जोड़ तोड़ के साथ उनके दिल जीत का फार्मूला काफी कारगर साबित हुआ। उनकी माता काफी मतों से विजयी हुईं। राजेन्द्र जायसवाल एक उभरते हुए नेता बनने की राह पर हैं, जो भविष्य में और प्रगति कर सकते हैं।

इसी प्रकार विकास खण्ड खुनियांव में भाजपा नेता हरिशंकर सिंह के भाई सुनील कुमार सिंह की पत्नी पुष्पा सिंह जिला पंचायत प्रत्याशी थीं। यहां बसपा से आबिदा और सपा से जयलक्ष्मी प्रत्याशी थीं। यहां वोटरों ने जाति धर्म से ऊपर उठ कर वोट दिया। यहां भी हरिशंकर सिंह का वोटरों के दिल जीतने का फार्मूला कारगर सिद्ध हुआ।

एक दिलचस्प लडाई वार्ड संख्या 12 में देखने को मिली यहां रात 8.30 बजे गिनती में हियुवा समर्थित प्रत्याशी राम कृपाल चौधरी आगे चल रहे थे। बसपा समर्थित प्रत्याशी कमाल अहमद पीछे थे। दोनों लोगों के बीच कडी टक्कर थी। अन्त में 120 वोट से कमाल अहमद विजयी हो गये। इसी प्रकार क्षेपं सदस्यों ने पहाड़ापुर से नये प्रत्याशी के रूप में मो. हारून विजयी हुए हैं। जब कि इटवा के दूसरे वार्ड से इन्द्रसेन सोनी तीसरी बार क्षेपं सदस्य का पद जीत कर हैट्रिक लगा दिये।

सूचना उपलब्घ कराने की मांग

सूचना अधिकार अधिनियम के तहत मांगी जाने वाली सूचनाओं को समय से उपलब्ध नहीं कराया जाता है। इसके लिये आवेदक भाग दौड़ करके थक जाते हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश मंे आया है। आठ माह बीत गया। राज्य सूचना आयोग का दरवाजा खटखटाया गया, मगर अभी तक सूचना उपलब्ध नहीं हुई।

इटवा विकास खंड अन्तर्गत ग्राम गोबिन्दपुर निवासी गिरीश कुमार मिश्र ने गत 28 फरवरी 2015 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इटवा का तीन बिन्दुओं पर प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एक परिवार कल्याण विभाग से सूचना मांगी थी। निर्धारित समय बीत जाने के बाद प्रथम अपील 31 मई को की गयी। दूसरी अपील भी की गयी परन्तु अब तक सूचना उपलब्ध नहीं करायी गयी है। उन्होंने यथा शीघ्र सूचना उपलब्ध कराने की मांग की है।

Leave a Reply