डीजल-पेट्रोल मूल्य में बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस ने उप जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

July 3, 2020 1:29 pm0 commentsViews: 121
Share news

निजाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। जिला कांग्रेस कमेटी सिद्धार्थनगर के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेसी नेता मशहूर अली के नेतृत्व में डीजल/पेट्रोल के मूल्यों में अभूतपूर्व बढ़ोतरी को  लेकर राष्ट्रपति को  सम्बोधित ज्ञापन सौंपा। जिसमें तीन माह के दौरान उनकी कीमतों में बार-बार की गई बृद्धि को अनुचित बताते हुए इसे कम करने का अनुरोध किया गया।

गत दिवस प्रशाषन को सौंपे ज्ञापन में कहा गया है कि भाजपा सरकार के इस कदम से  भारत के नागरिकों को असीम पीड़ा व परेशानियां हुई हैं। एक तरफ मुल्क स्वास्थ्य व आर्थिक महामारी से लड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल की कीमतों और उस पर लगने वाले उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर इस मुश्किल दौर में भी  मुनाफाखोरी से बाज नहीं आ रही है।

ज्ञापन में मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा गया है कि 24 जून 2020 को कच्चे तेल का अंतरराष्ट्रीय भाव 43.41 अमेरिकी डालर प्रति बैरल था। जो रुपए के अनुसार 3288 .71 रुपये प्रति बैरल बनता है। एक बैरल में 159 लीटर होते हैं। इसलिए 24 जून 2020 को कच्चे तेल का प्रति लीटर भाव 20.68 पैसा बनता है। इसके विपरीत पेट्रोल डीजल के मूल्य आसमान छू कर 80 प्रति लीटर पहुंच गए हैं। जिससे साबित होता है कि मोदी सरकार भारत के भोले भाले नागरिकों की जेब पर डाका डालकर उन्हें खसोट रही है।

 ज्ञापन में कार्यकर्ताओं ने ने यूपीए सरकार का हवाला देते हुए कहा कि जब कांग्रेस की यूपीए सरकार केंद्र में सत्ताधीन थी तो कच्चे तेल का दाम 108 अमेरिकी डालर प्रति बैरल था जो 24 जून 2020 को गिरकर तेरा 43.41 अमेरिकी डालर प्रति बैरल हो गया। यानी इसके मूल्य में 60% की गिरावट हुई है। इसके बावजूद भाजपा सरकार ने पेट्रोल डीजल के दाम के दाम आसमान पर पहुंचा दिया।

ज्ञापन देने के इस दौरान मशहूर अली, दीपक यदुवंशी, रिद्वेषकर त्रिपाठी, आशुतोष मिश्रा, श्यामलाल, सोनू त्रिपाठी, पंकज चतुर्वेदी, इश्तियाक, राजेश चौधरी, योगेश मिश्रा, गालिब विशेन, रोहित, खालिद, इस्तियाक अहमद चौधरी, मोहम्मद रफीक, मोहम्मद शकील, सौरभ सिंह सर्वेश सिंह, डॉ अब्दुल कलाम आदि मौजूद रहे। आदि मौजूद रहे।

(96)

Leave a Reply


error: Content is protected !!