किसानों के मुआवजा देने की मांग को लेकर कांग्रेस ने दिया धरना, सरकार पर किया प्रहार

March 17, 2020 3:23 pm0 commentsViews: 152
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर।  पेट्रोल एवं डीजल के दामों में कमी किए जाने एवं आंधी तथा ओलावृष्टि से किसानों की बर्बाद फसलों तथा आकाशीय बिजली गिरने से हुई मौतों पर 10,10,लाख रूपया मुआवजा दिए जाने की मांग को लेकर आज कांग्रस जनों ने जिला अध्यक्ष काजी सुहेल अहमद की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित चार सूत्रीय मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा, इस दौरान हुए धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए काजी सोहेल अहमद ने साकरी नीतियों की कड़ी आलोचना की।

धरना प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए काजी सोहेल ने कहा कि आज अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम 29 साल में सबसे ज्यादा गिर गया है तब लाभ जनता को राहत देने के बजाय डीजल और पेट्रोल दोनों पर ₹3 प्रति लीटर उत्पादक शुल्क बढ़ाकर सरकार अपना खजाना भर रही है। केंद्र सरकार की इस मनमानी को हम कांग्रेसजन कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे और इसके खिलाफ अब आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे। काजी सुहेल अहमद ने केंद्र सरकार से मांग किया कि पेट्रोल-डीजल पर बढ़ाए गए उत्पाद शुल्क को तत्काल वापस लेकर उनके दामों में भारी कमी किया जाए।
इस अवसर पर पूर्व सांसद मोहम्मद मुकीम एवं लोकसभा प्रत्याशी डॉ चंद्रेश उपाध्याय ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार जनविरोधी है। आंधी एवं ओलावृष्टि से किसानों की फसल बर्बाद हो चुकी है किसान भुखमरी के कगार पर पहुंच चुका है। पिछले दिनों आकाशीय बिजली गिरने से प्रदेश भर में कई लोगों की जान चली गई। उन्होंने मांग किया कि  सरकार तत्काल किसानों की बरबाद फसलों का मुआवजा दे और आकाशीय बिजली गिरने से हुई मौतों के लिए 10,10, लाख रूपया आर्थिक सहायता दे, वरना कांग्रेस पार्टी के लोग सड़कों पर उतरकर सरकार के विरुद्ध आर पार का संघर्ष करेंगे।

इस अवसर पर सच्चिदानंद पांडे अनिल सिंह अन्नू, डॉक्टर मोहम्मद वासीफ बख्तियार उस्मानी दिनेश कुमार वर्मा डॉ रमेश चौधरी अतहर अलीम, श्रीमती कांति पांडे,मशहूर अली देवेंद्र कुमार गुड्डू कैलाश पंछी अली अहमद प्रदीप ठाकुर आई लक्ष्मी रमणा त्रिपाठी रंजना मिश्रा आशुतोष मिश्रा आमिर मोईन रितेश त्रिपाठी पप्पू राय आसिफ रिजवी रियाद मनिहार अकरम अली प्रोफेसर हरिप्रसाद सुदामा प्रसाद, एहसानुल्लाह इनामुरहमान आदि की उपस्थिति रही।

 

(133)

Leave a Reply


error: Content is protected !!