कोरोना से जंग जीतना ही बाबा साहब की सच्ची श्रद्धांजलि होगी: राघवेन्द्र प्रताप सिंह

April 14, 2020 11:36 pm0 commentsViews: 114
Share news

• डुमरियागंज में एंटी कोरोना गुरू करेंगे कोरोना के प्रति जागरूक

मेराज मुस्तफा

फोटो- विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह, एसडीएम त्रिभुवन कुमार व परिषदीय शिक्षक

सिद्धार्थनगर। आजाद भारत के प्रथम विधि व न्याय मंत्री भारत रत्न बाबासाहब डॉ. भीमराव अंबेडकर जी की जयंती के अवसर पर डुमरियागंज तहसील क्षेत्र की जनता को कोरोना के प्रति जागरूक कर बचाना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। लोग प्रधानमंत्री जी के 3 मई तक लॉक डाउन रहने के निवेदन को स्वीकार कर सोशल डिस्टेंस बना कर रहें। जिससे भारत कोरोना जंग को जीते।

उपरोक्त बातें डुमरियागंज विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने तहसील सभागार में क्षेत्र के परिषदीय शिक्षकों के साथ बैठक के दौरान कही। बैठक में उपजिलाधिकारी त्रिभुवन कुमार ने कहा कि कोरोना से मुक्ति के लिए पंचशील सूत्र ज्ञान देने से लोगों में जागरूकता फैलाने के साथ ही एक सकारात्मक सन्देश जाएगा। आप लोग आज से एंटी कोरोना गुरु के नाम से जाने जाएंगे।

इस मुहिम का शुभारंभ करते हुए डुमरियागंज विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने कोरोना मुक्त क्षेत्र बनाने के लिए समस्त शिक्षकों से कहा कि आप अपने प्राथमिक विद्यालय क्षेत्र में आम जनता को कोरोना जैसी भयावह बीमारी से निजात दिलाने के लिए जो उत्कृष्ट कार्य करने जा रहे वह एक मिसाल कायम करेगा।

इस दौरान उपजिलाधिकारी त्रिभुवन कुमार ने बताया कि ब्लॉक स्तर पर खंड शिक्षा अधिकारी डुमरियागंज व भनवापुर व न्याय पंचायत स्तर पर न्याय पंचायत समन्वयक इसकी कमान संभालेंगे एवं गांव स्तर पर प्रधानाध्यापक इसके नोडल होंगे।

पंचशील सूत्र ज्ञान से लोग होंगे जागरूक

उपजिलाधिकारी त्रिभुवन कुमार ने उपस्थित शिक्षकों को पंचशील ज्ञान सूत्र बताया कि प्रत्येक व्यक्ति को अपने संस्कार में आत्मसात करना चाहिए कि उसको स्वयं को छोड़कर अन्य सभी व्यक्ति कोरोना से ग्रसित हो सकते हैं यह मानकर स्वयं जागरूक, सतर्क व सजग रहना चाहिए एवं प्रत्येक व्यक्ति को सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से पालन करें।

सभी को नाक, मुह को अच्छी तरह ढकने के लिए मास्क, गमछा, दुपट्टा आदि का प्रयोग स्वयं अनिवार्य करने के अतिरिक्त स्वयं के साथ घर व घर के आसपास स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने के अलावा सभी लोग सुबह व शाम में गुनगुना पानी और दोपहर में संतरा नींबू अथवा खट्टी चीजों को खाएं व संतुलित आहार ले ताकि इस वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला करते हुए इसे परास्त किया जा सके।

(34)

Leave a Reply


error: Content is protected !!