न्याय के आस में दुधमुंही बच्ची को लेकर 10 दिन से थाने का चक्कर लगा रही महिला, पुलिस नहीं लिख रही मुक़दमा

September 5, 2017 8:21 pm0 commentsViews: 355
Share news

एम. आरिफ़

इटवा, सिद्धार्थ नगर । योगी राज में पुलिस की मनमानी जस की तस है। इटवा थाना क्षेत्र के मेहदनी गांव में 10 दिन पूर्व एक दबंग ने एक ग़रीब महिला को लाठियों से जम के पीटा।  जिससे पीड़ित महिला शीला देवी के सर में काफी चोट आई और वह बेहोश होगयी । गंभीर चोट के कारण सिर में 20 टाके लगे। मगर पुलिस उसका मुकदमा नहीं लिख रही है। उसकी दुधमुही बच्ची भी है।

पीड़ित महिला न्याय हेतु दर दर भटकने के बाद अंत में मंगलवार को तहसील दिवस में पेश हुई और रोते हुए पुलिस अधीक्षक को अपनी फरियाद सुनाई । महिला ने बताया कि थाने से लेकर पुलिस के आला अफसरों तक के दरवाजे पर माथा टेक चुकी हूँ , लेकिन अभी तक हम को न्याय नहीं मिला है।

पीड़ित महिला ने बताया कि 26 अगस्त को मेरे पड़ोस में एक औरत से थोड़ी सी बात को लेकर तू तू मे मे हुई । जिसको लेकर शाम को महिला का पति राम सुमेर शराब के नशे में घर आया। आते ही हम को मारने पीटने लगा । जिससे मेरे सिर में गंभीर चोट आई। और मैं बेहोश होगयी। महिला की फरियाद सुन पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार इटवा थानाध्यक्ष को बुला कर फटकार लगाते हुए पीड़ित महिला को उचित कार्यवाही का आशवासन दिया।

पुलिस ने मामले को कर दिया लीपापोती
पीड़ित महिला ने बताया कि 100 नंबर पर मेरे पड़ोस के एक व्यक्त ने सूचना दी थी। जिससे आरोपी को पुलिस द्वारा थाने लाया गया । धारा 151 लगाकर मामूली सी कार्यवाही की गई। पीड़ित महिला के अनुसार कई बार थाने पर गयी तो दरोगा द्वारा दबाव बनाकर वापस भेज दिया जाता था। महिला को तहसील दिवस में भी आश्वासन के अलावा कुछ न मिल सका।

 

(27)

Leave a Reply


error: Content is protected !!