दबंगई की हद:बेटे की बांह पकड़ो, गंगाजल उठा कर कसम खाओ, तब मानूंगा वोट दोगे

October 2, 2015 8:45 am0 commentsViews: 188
Share news

ओजैर खान

IMG-20151001-WA0020
बढ़नी ब्लाक के प्रधान पद के एक उम्मीदवार ने दबंगई की सारी हदें तोड़ दी है। वह गांव के लोगों को बुला कर उनसे बेटे की कसम लेता है या फिर गंगाजल की कसम दिलाता है। इसके बाद ही वह मानता है, कि वोट उसे मिलेगा। बीडीओ ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताया है।

कपिलवस्तु पोस्ट को मिली जानकारी के मुताबिक बढ़नी टाउन से कुछ दूर एक ग्राम पंचायत में आचार संहिता की धज्जियां उड़ रही हैं। उस गांव का एक दबंग प्रत्याशी चुनाव में धर्म और दबंगई का सहारा ले रहा है।

खबर के मुताबिक प्रत्याशी रोजाना गांव के दस पांच लोगों को बुलाता है और उनसे बेटेे की कसम खिलाता है या फिर गंगाजल उठवा कर वोट की गारंटी लेता है।

उम्मीदवार इतना दबंग है कि गांव के लोग उसके सामने विरोध नहीं कर पाते और कसम खाने को मजबूर हो जाते हैं। हालांकि चुनाव अभी दूर है, लेकिन उम्मीदवार की दबंगई के चलते गांव सुर्खियों में आ गया है।

कल कुछ लोगों ने हिम्मत कर यह बात कपिलवस्तु पोस्ट को बताई। यही नहीं विकास खंड अधिकारी को जानकारी दी, लेकिन खंड विकास अधिकारी कोई कदम नहीं उठा पाये।

बढ़नी के बीडीओ भगवान सिंह का कहना है कि आस्था और दबंगई से वोट लेना बूथ कैप्चरिंग से भी खतरनाक है, लेकिन साथ में उनका कहना है कि लिखित षिकायत मिलने पर ही वह कार्रवाई कर सकते हैं।

अब उस दबंग बिल्ले के गले में घंटी कौन बांधे, यह अहम सवाल है। कानून के मुहाफिज भी कैसे हैं, जो अपराध की जानकारी के बावजूद भी लिखित शिकायत के इंतजार में हाथ पर हाथ रखे बैठे रहते हैं।

(2)

Leave a Reply