मंत्री के निरीक्षण में अस्पतालों में पग पग पर फैले भ्रष्टाचार की कलई खुली

November 24, 2022 1:30 pm0 commentsViews: 302
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। पूर्वांचल विकास बोर्ड के सदस्य व दर्जा प्राप्त मंत्री बौद्ध अरविंद सिंह पटेल ने अपने दौरे में सिद्धार्थनगर के दो अस्पतालों का निरीक्षण किया जिससे स्वास्थ्य विभाग में पग पग व्याप्त भ्रष्टाचार की कलई खुल कर सामने आ गई। मगर भ्रष्टाचार के लिए जिम्मेदार किसी भी कर्मी को सजा नहीं दी गई तथा स्पष्टीकरण् मांगने जैसी प्रक्रिया का सहारा लेकर पूरी कहानी का पटाक्षेप कर दिया गया।

पूर्वांचल विकास बोर्ड के सदस्य बौद्ध अरविंद सिंह पटेल के निरीक्षण में बुधवार को सरकारी अस्पताल में प्रसव के लिए रुपये मांगने की शिकायत मिली। उन्होंने अस्पताल से प्रसव कराकर घर चली गई महिला से फोन पर फीडबैक लिया तो महिला ने जवाब दिया कि प्रसव के लिए पांच सौ रुपये देने पड़े थे। निरीक्षण के दौरान अस्पताल में प्रसूताओं को भोजन नहीं मिलने सहित अन्य शिकायतें भी मिली।  दर्जा प्राप्त मंत्री के आदेश में स्त्री एवं प्रसति रोगविशेषज्ञ को कारण बताओं नोटिस भी दिया गया है।

पूर्वांचल विकास परिषद के सदस्य बौद्ध अरविंद सिंह पटेल के निरीक्षण में अस्पताल के बेहतर व्यवस्था की पोल खुल गई। सबसे पहले वे इमरजेंसी वार्ड में गए यहां आने वाले मरीजों के लिए व्यवस्था पर्याप्त नहीं मिली। एक्स-रे रूम में पता चला कि दो दिनों में सिर्फ चार एक्सरे जांच हुई है। जच्चा बच्चा वार्ड में कर्मा निवासी कविता शुक्ला व नगवां निवासी तबस्सुम सोमवार से भर्ती थीं। उन्होंने बातचीत में बताया कि मरीजों का खाना घर से आ रहा है, जबकि उन्हें नाश्ता व भोजन अस्पताल से ही मिलना चाहिए।

दर्जा प्राप्त मंत्री बौद्ध अरविंद सिंह पटेल ने जब खुद फोन मिलाया तो पांच मोबाइल नंबर गलत मिले। अस्पताल के रजिस्टर में मरीज का मोबाइल नंबर गलत होने पर उन्होंने नाराजगी जताई।

क्षेत्र के परती निवासी सुनीता को 20 नवंबर को बच्चा पैदा हुआ। इनके पति पवन और सेखुई निवासी विंद्रावती को 18 नवंबर को बच्चा पैदा हुआ। इनके पति विनोद से फोन पर बात की तो विनोद ने बताया कि अस्पताल पर किसी ने उनके परिजनों से पांच सौ रुपये सुविधा शुल्क के रूप में लिया गया है। यह सुनते ही अस्पताल प्रशासन के हाथ पैर फूल गए, सभी एक दूसरे का मुंह देखने लगे।

इससे पूर्व जिला अस्पताल में भी दर्जा प्राप्त मंत्री पटेल की सभी मरीजों के मोबाइल नंबर पर बात नहीं हो सकी थी। ओपीडी में 11 बजे तक 50 मरीजों को देखे जाने का रिकार्ड मिला। ।अस्पताल में उपलब्ध संसाधनों की जानकारी सीएचसी अधीक्षक डॉ. एसके पटेल से ली। वहीं उन्हें किसी प्रसूता से पांच हजार रुपये रिश्वत लेने की जानकारी भी मिली

संयुक्त जिला अस्पताल के प्रभारी सीएमएस डॉ. एके झा ने पूर्वांचल विकास बोर्ड के सदस्य बौद्ध अरविंद सिंह पटेल के निरीक्षण के दौरान पांच हजार रुपये रिश्वत लेने के आरोप के मामले में स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ को नोटिस दिया। डॉक्टर से स्पष्टीकरण मांगा गया है। हालांकि, इस मामले में प्रसूता के परिजन की ओर से शिकायत नहीं मिली है। प्रभारी सीएमएस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

 

(282)

Leave a Reply


error: Content is protected !!