दस साल के कार्याकाल में बुनियादी सुविधायें न दे सके मौजूदा सांसद़ – आफताब आलम

November 13, 2018 12:15 pm0 commentsViews: 230
Share news

अजीत सिंह

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। स्थानीय लोकसभा क्षेत्र में समस्याओं अंबार है। उससे डुमरियागंज और इटवा क्षेत्र के सीमाई गांव भी अछूते नहीं हैं। वर्तमान सांसद सत्ताधारी पार्टी भाजपा के हैं। इससे पहले वह कांग्रेस पार्टी के सांसद थे, तब कांग्रेस की सरकार थी, इसके वाजूद यह इलाका बुनियादी सुविधाओं को लेकर पिछड़ा का पिछडा ही रहा।

यह बातें डुमरियागंज लोकसभा क्षेत्र के बसपा प्रभारी/प्रत्याशी आफताब आलम आलम ने कहा। वह आज डुमरियागंज क्षे़त्र के ग्राम गडावर, हथपरा, शाहेपारा, पटना, हन्नाखुरी, महनवा, कठवतिया आदि में आयोजित सभाओं को सम्बोधित कर रहे थे।  उन्होंने कहा कि वर्तमान सांसद गैरजिम्मेदार सरकार के गैर जिम्मेदार सांसद साबित हुए हैं। आप को सरकार और सांसद को बदलने के लिए तैयार रहना होगा।

आफताब आलम ने कहा कि  इस क्षेत्र में शिक्षा और स्वास्थ्य की बड़ी समस्या है। पिछले दस सालों में इसमें तनिक भी सुधार नहीं हुआ। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द की हालत बुरी है। लोग प्रइवेट चिकित्सकों की शरण में जाकर लुटने का विवश हैं। इस इलाके को मुख्यालय से जोडने के लिए अभी तक समुचित बस सेवा तक नहीं है। इसलिए जनता को सरकार को हटाना होगा। सरकार और सांसद को हटाये बिना व्यवस्था परिवर्तन हो पाना संभव नहीं है।

आफताब आलम ने कहा कि कम से इस इलाके में दो सरकारी इंटर कालेज, एक डिग्री कालेज व दो पीएचसी की जरूरत है। इस पिछड़े क्षे़त्र में तकनीकी शिक्षा के लिए एक पोलिटेक्लिक कालेज की स्थापना करके पिछड़ापन दूर किया जा सकता था। लेकिन स्थानीय सांसद की उदासीनता के चलते कुछ न हुआ। इसलिए आगे भी उनसे कोई उम्मीद नहीं की जानी चाहिए।

सभाओं को सम्बोधित करते हुए डुमरियागंज की पूर्व प्रत्याशी सैयदा खातून, और इटवा के पूर्व प्रत्याशी अरशद खुरशीद ने भी मौजूदा सरकार पर करारा प्रहार किया। सैयदा खतून ने कहा कि हमे तो जनता के वोट ने मारा था,फिर भी हम सरकार से लड़ने को खड़े गये, आपको तो डीजल पेट्रोल की मंगाई, मंहगी शिक्षा, खाद और बीज के दाम ने मारा है। ऐसे में तो आपको और भी ताकत से हमारे साथ खड़ा होना चाहिए।

दूसरी तरफ अरशद खुर्शीद ने कहा कि किसान और गरीब विरोधी सरकार को सबक सिखाने का मौका आने वाला है इसलिए आप सब पूरी शिद्दत से इनके खिलाफ कमर कस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह वा सरकार है जिनमें सर्वाध्रिक शोषण किसान का हो रहा है और किसन समाज में सवर्णों से बड़ा खेतिहर कोई नहीं, सो यह सरकार सवर्ण विरोधी भी है। दोनों नेताओं ने लोकाभा चुनाव में भाई आफताब आलाम के साथ खड़े होने की अपील भी की।

इन कार्यक्रमों में भाजपा जिला अध्यक्ष दिनेश चन्द गौतम सहित राप्ती पाण्डेय, सुहेल फारुकी, शब्लू भाई, विजय पाल, मुन्ना श्रीवास्तव, रमेश चमार, रामकिशोर, श्री राम, सूर्यबली, इरफ़ान मिर्जा, बालकृष्ण, ज्वाला प्रसाद राजभर, अशोक राजभर के साथ आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

|

 

 

(165)

Leave a Reply


error: Content is protected !!