भैंस खरीदने गये सरदार खां को दिनदहाडे़ पीट पीट कर मार डाला और फरार हो गये हत्यारे, गुस्साये ग्रामीणों ने घंटों किया रास्ता जाम

November 8, 2015 8:11 PM0 commentsViews: 338
Share news

नजीर मलिक

सरदार की हत्या के बाद सिद्धार्थनगर-बलरामपुर मार्ग पर धरना देते क्षेत्रीय ग्रामीण और उन्हें समझाते पुलिस के लोग

सरदार की हत्या के बाद सिद्धार्थनगर-बलरामपुर मार्ग पर धरना देते क्षेत्रीय ग्रामीण और उन्हें समझाते पुलिस के लोग

भैंस खरीदने को लेकर हुए विवाद में एक पक्ष ने दूसरे खरीदार सरदार खां को लाठियों से पीट पीट कर मार डाला और फरार हो गये। रविवार को दिनदहाड़े 12 बजे यह वाकया चिल्हिया थोने के देवकलीगंज बाजार में हुआ। घटना के बाद ग्रामीणों ने रास्ता घंटों तक जाम कर दिया। फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना से पूरे इलाके में सनसनी छाई हुई है।

घटना के बारे में बताया जाता है कि उसी थाना क्षेत्र के ग्राम जमुनी निवासी 57 साला सरदार खां बंजारा गांव के बगल की देवकली गंज साप्ताहिक बाजार में अपने पुत्र जब्बार के साथ भैंस खरीदने गया था। सरदार क्षेत्र के ही पूर्व माध्यमिक विदृयालय मुड़िला में अनुचर भी है।
बताया जाता है कि भैंस खरीदारी के दौरान सरदार का मिश्रौलिया थाने के गौरडीह निवासी दूसरे खरीदार पक्ष से विवाद हो गया। बात बढ़ी तो दूसरे पक्ष ने सरदार को लाठियों से पीटना शुरू कर दिया।
चश्मदीदों के मुताबिक दूसरे पक्ष के आधा दर्जन लोग सरदार खां को तब तक मारते रहे जब तक की उसका दम नहीं निकल गया। इसके बाद हत्यारे उसकी जेब में रखे पचास हजार रुपये निकाले और फरार हो गये।
दिनदहाड़े हुए इस वाकये की खबर इलाके भर में फैल गई। लोगों ने घटना को लेकर पुलिस विभाग के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा व्यक्त करते हुए गौहनियां चौराहे पर सिद्धार्थनगर- बलरामपुर मार्ग को जाम कर दिया।
बताते हैं कि कई घंटे जाम के बाद पुलिस वालों की मनुहार और अपराधियों को गिरिफ्तार करने वायदे को मान कर जाम खतम किया गया।
इस सिलसिले में मृतक के बेटे जब्बार ने चिल्हिया थाने में गौरडीह गांव के जुम्मन, लाला और उसके छोटे भाई तथा दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दजर्् कर अपराधियों की गिरफृतारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है। घटना से इलाके में दहशत छायी हुई है।

Leave a Reply