सनसनीखेज खुलासाः छुटकारे के लिए प्रेमिका ने प्रेमी से मिल कर किया था पूर्व प्रेमी दीपक दुबे का कत्ल

October 5, 2020 1:49 pm0 commentsViews: 692
Share news

—7 सितंबर की रात हुत नृशंसतापूर्ण छंग से की गई थी बोहली गांव के दीपक दुबे की

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।अन्ततः वहीं हुईजिसकी मडिया आशंका व्यक्त् कर रही थी। शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र  के ग्राम बोहली में दीपक दुबे की हत्या  के पीछे भी मामला प्रेम कोण का ही निकला।में इस कांड़ को अंजाम देने वाले प्रेमी और प्रमिका को पलिस ने गिरफतार कर इस कांड का पटाक्षेप कर दिया है। आरोपियों ने स्वीकार किया है कि उन्होंने पहले दीपक की हत्या की और फिर किसी को शक न हो इसलिए लाश को तालाब में डूबाकर चले गए। पूछताछ करने के बाद दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक दीपक की दुबे की गांव की ही एक लड़की किरन (बदला हुआ नाम) से रोमांस चल रहा था। यह बात कई लोगों को पता थी। इसी बीच दीपक आगे की पढ़ाई के लिए दिल्ली चला गया और वहीं रहने लगा। दीपक के दूर होने के बाद किरन का गांव के ही एक दूसरे लड़के से सम्बंध बन गया और दोनों को प्यार परवान चढ़ने लगा।

बताते हैं कि दीपक दिल्ली से घर आया हुआ था।  उसकी प्रेमिका गांव के ही प्रेम यादव नामक युवक से जुड़ चुकी थी, उसने दीपक से सम्बंध तोड़ लिए थे। फिर भी दीपक उसे बराबर फोन करता, मिलने का प्रयास करता कभी अकेली दिख जाने पर छेड़छाड भी कर लिया करता। अपने पूर्व प्रेमी की इन हरकतों को किरन अपने नये दास्त प्रेम को बताती रहती। बताते हैकि जब दीपक की हरकतें बढ़ती गईं तोकिरन और उसके नये साथी प्रेम ने एक योजना बनाई।जिसके तहत किरन ने दीपक दुबे को रात में मिलने के लिए गांव से बाहर के तालाब पर रात्रि 12 बजे बुलाया।

घटना की रात  अपनी सोती हुई मां को अकलीछोड़ कर दीपक दुबे पूर्व प्रमिका किरन से मिलने उक्त तालाब पर पहुंचा, जहां पहले से मौजूदकिरन और प्रेम नेमिल कर उसे मार डाला व उसकी आंखें फोड़ कर लाश तालाब में फेंक दिया। इस प्रकार एक तित्रकोणीय प्रेमकथा का अत्संत दुखद ढंग से अंत हो गया

बताते चलेंकि शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के बोहली गांव निवासी 19 वर्षीय दीपक दुबे की लाश 18 सितंबर को गांव से एक किलोमीटर दूर पोखरे में सिर के बल धंसी हुई मिली थी। मृतक के पिता ने गांव के ही कुछ लोगों पर बेटे की हत्या का आरोप लगाया था। पुलिस मामले में टाल मटोल कर रही थी। जब लोगों ने जन दबाव बनाया तो पुलिस ने हत्या का केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू की। इसकी जांच में गंभीरता लाई गई और रविवार को पुलिस ने प्रेम यादव उर्फ छोटू और किरन को हत्या के आरोप में बोहली गांव से गिरफ्तार किया।

एसओ शोहरतगढ़ रामअशीष यादव ने बताया कि पूछताछ में दोनों ने स्वीकार किया है कि पहले दोनों ने मिल कर दीपक की हत्या कर दी थी। किसी को जानकारी न लगे इसलिए शव को तालाब में डूबो दिया था। पूछताछ करने के बाद दोनों को जेल भेज दिया गया। पकड़ने वाली टीम में एसओ राम अशीष यादव, आरक्षी कृष्ण प्रताप त्रिपाठी, सुनील कुमार शाह, महिला आरक्षी कुमारी वंदना आदि शामिल रहे।

(674)

Leave a Reply


error: Content is protected !!