आईजी ने किया देवाइचपार का दौरा, शक है कि बच्चों का कत्ल करने वाली मां गैंसड़ी इलाके में छुपी है

July 27, 2017 6:15 PM0 commentsViews: 647
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। ढेबरुआ थाने के देवाइच पार परस गांव में दो बच्चों की डूब कर मरने के बाद मां बेटी का पता न चलने के कारण मामला जटिल होता जा रहा है। घटना की गंभीरता को देख आज गोरखपुर रेंज के डीआईजी मोहित अग्रवाल ने भी मौका मुआयना किया। दसरी ओर सू़त्र बता रहे हैं कि बच्चों की मां अपनी 6 साल की बेटी के साथ बलरामपुर जिले के गैसड़ी क्षेत्र में कहीं है। पुलिस इस बिंदु की जांच भी कर रही है।

पोखरे से बरामद दोनों बच्चों की लाशें

बताया जाता है कि आई जी मोहित अग्रवाल ने आजदिेवाइच पार परसा गांव में पहुच कर हालात का जायजा लिया। उन्होंने इस मर्डर मिस्ट्री का खुलासा करन की पुलिस को हिदायात भी दी। दूसरी तरफ गांव के जिस पोखरे में दोनों बच्चों, चार साल के सुरेन्द्र और 2 साल के वीरेन्द्र की लाश मिली थी, पुलिस ने पम्पसेट से उसे सुखवा दिया। मगर बच्चों की बड़ी बहन 6 साल की लक्ष्मी और उनकी मां अनीता की लाश पोखरे में नहीं मिली। उससे गांव की एक महिला का बयान पुख्ता हो गया, जिसने बताया था कि भोर में सुनीता किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ मोटर साइकिल पर जाती दिखी थी।

पुलिस अब अनीता के प्रेमी संग भागने की लाइन पर पूरी तरफ जांच पड़ताल कर रही है। सूत्रों के मुताबिक अनीता का अपने एक रिश्तेदार से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वह रिश्ते में उसकर जीजा लगता है। अनुमान है कि वह 6 साल की बेटी संग उसी के साथ है।

एक सूत्र का कहना है कि मोबाइल नम्बर से अनीता के लोकेशन का पता बलरामपुर जिले के गैंसडी इलाके का पाया जा रहा है। पुलिस ने पता लगाने के लिए मुखबिरों का जाल उस क्षे़त्र में बिछा दिया है। लेकिन पुलिस अभी कोई सम्पर्क सूत्र मिलने से इंकार कर रही है।  लेकिन पुलिस के ही सूत्रों का कहना है कि वह निशाने पर है और जल्द गिरफ्त में आयेगी।

बताते चलें कि देवाइच पार परसा गांव निवासी अर्जुन मुम्बई रह कर कमाता है। कल गांव के पाखरे में अर्जुन के चार आर दो साल के बेटे सुरेन्द्र तथा वीरेन्द्र की लाश पाई गई थी। उसकी एक 6 साल की बहिन और मां अनीता घर से गायब थी। पहले तो लोगों ने समझा की मां ने अपने तीनों बच्चों के साथ पाखरे में कूद कर आत्म हत्या कर ली। लेकिन जब बडी बेटी और अनीता की लाश नहीं मिली तो मामला उलझता नजर आया।

इसी बीच गांव की एक महिला ने बताया कि कल भोर में उसने अनीता को एक मोटर साइकिल पर जाते देखा है। फिर गांव में उसके प्रेम संबंध पर भी चर्चा होने लगी। इसके बाद पुलिस ने प्रेम प्रसंग के एंगिल मामले की छानबीन करने लगी। अब तो उसको भी शक है कि अनीता ने अपने दो अबोध बच्चों को मार कर पोखरे में फेंक दिया और बड़ी बेटी के साथ कहीं चली गई। गांव वालों को उसके पति अर्जुन के मुम्बई से आने का इंतजार है। मुमकिन है कि वह इस दिशा में  कोई जानकारी दे सके।

 

 

 

Leave a Reply