श्रद्धांजलिः विकास और सामाजिक एकता के प्रबल पक्षधर थे स्व. धनराज यादव जी

April 3, 2018 5:24 pm0 commentsViews: 422
Share news

— पूर्वमंत्री धनराज यादव की 9वीं पुण्य तिथि

नजीर मलिक

स्व. मंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते राजनेता गण

सिद्धार्थनगर। सादगी और ईमानदारी के प्रतिमूर्ति भाजपा सरकार में कई बार मंत्री रहे स्व धनराज यादव को उनकी 9वी पुण्य तिथि पर कृतज्ञ जनपद ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। तमाम लोगों ने उनकी समाधि स्थल पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किया और सामाजिक एकता का प्रबल पक्षधर बताया।

जिला मुख्यालय से थोड़ी दूर स्थित उनके पैतृक गांव पिपरा भड़ेहर स्थित उनकी समाधि स्थल पर  आज सुबह से लोगों का आना जाना लगा रहा रहा। उनमें अस्था रखने वाले वहां पहुंच कर श्रद्धासुमन अर्पित कर रहे थे। इस अवसर पर लोग उनके पुत्र गोविंद माधव  से उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर चर्चा भी कर रहे थे।

स्व. धनराज यादव जी की मंत्री काल की दुर्लभ तस्वीर

वहां श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे भाजपा नेता कन्हैया पासवान ने वैचारिक संवाद में कहा कि भारतीय जनता पार्टी से सात बार विधायक और कई बार मंत्री रहे स्व. धनराज यादव जी सादगी और ईमानदारी के प्रति मूर्ति थे।  वे सबको समान दृष्टि से देखते थे। यहीं कारण है कि भाजपा में रहने के बावजूद क्षे़त्र का अल्पसंख्यक तबका उन्हें  सदा आदर सम्मान और वोट देता रहा।

इस मौके पर स्व. मंत्री के पुत्र और भाजपा के क्षेत्रीय मंत्री गोविंद माधव ने घनराज यादव जी से जुड़ी कई स्मृतियों का जीवंत त्रित्रण किया तथा कहा कि बाबूजी ने आदर और सम्मान की जो पूजी अर्जित की थी, आज वहीं मेरी थाती है। उन्होंने मौके पर आये लोगों का आभार भी व्यक्त किया।

तत्पश्चात लोगों ने स्व. मंत्री को अंजुरांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में जगदीश जायसवाल जी, राम लखन उपाध्याय, विपिन सिंह,  धीरेंद्र प्रताप, हरिशंकर तिवारी, कृष्ण कुमार, मुक्तिनाथ,  अरविंद कुमार, महेश चंद्र वर्मा,  अशोक कुमार,  राजभवन श्री राम दशरथ  विश्वकर्मा,  कुलदीप यादव, अरविंद यादव, विजय प्रताप यादव सहित भाजपा जन व क्षेत्र के लोग भारी तादा में उपस्थित रहे।‘

बता दें कि स्व. धनराज यादव जी भाजपा में रह कर भी सदैव गांधीवादी रहे। वह सार्वजनिक रूप से इसे स्वीकारते भी थे। वे गांधी जी की तस्वीर को सदा अपने घर में दीवार पर लगाये रहे। स्व. धनराज जी आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन अपने विचारों और विकास कार्यों को लेकर वह सदा जनता के मन में जिंदा रहेंगे।

(241)

Leave a Reply


error: Content is protected !!