भारत, सरदार पटेल जी का जन्म जन्मांतर ऋणी रहेगा- कुंवर धनुर्धर सिंह

October 31, 2018 5:02 pm0 commentsViews: 218
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। सरदार पटेल के जन्मदिन पर यों तो जिला मुख्यालय पर कई कार्यक्रम आयोजित हुए,मगर उनमें राष्ट्रवादी विचारधारा युवा दल की रैली राष्ट्रवादी भावानाओं से ओत प्रोत रही। रैली के मुख्य अतिथि शोहरतगढ़ राज घराने के सदस्य कुंवर धनुर्धर सिंह हे। उन्होंने रैली को झंडी दिख कर रवाना किया तथा कहा कि भारत की एकता के संदर्भ में देश की जनता सदैवा सरदार पटेल की ऋणी रेगी।

राष्ट्रीय विचारधारा युवा दल की यह रैली शहर के बांसी तिराहे से लगभग चार बजे रवाना हुई। रैली सरदार पटेल सम्बंधी बैनरों के साथ सिद्धार्थ तिराहा पार करती हुई अशोग मार्ग तिराहे पर पहुंची और यहां पर भारत सरकार के प्रथम गृह मंत्री सरदार पटेल को श्रद्धा सुमन अर्पित करने के बाद वापस लौटी और नगर पालिका कार्यालय पर पहुंच कर समाप्त हुई। यहां उनके जीवन वृत्त पर भी प्रकाश डाला गया। ौर लोगों ने अपने विचार व्यक्त किये।

रैली को रवाना करने से पूर्व शोहरतगढ़ राज परिवार के सदस्य कुंवर धनुर्धर सिंह ने सरकार पटेल की नीति राति पर प्रकाश डाला और कहा कि सरदार पटेल जी भारत की राष्ट्रीय एकता और अखंडता के प्रबल ध्वज वाहक थे। अगर वे न होते तो आज भारत कई टुकड़ों में बंटा होता। इसलिए भारत की जनता अनंत काल तक उनकी ऋणी रहेगी और राष्ट्रवाद की उनसे प्रेरणा लेती रहेंगी।

कुंवर धनुर्धर सिंह ने पटेल को देश का महान पुरुष बताते हुए कहा कि उन्होंने स्वाधीनता संग्राम की लडाई तो लड़ा ही, आजद भारत को एक राष्ट्र बनाने में उनकी प्रमुख भूमिका रही। यह उन्हीं के कार्यों का फल है कि आज भारत की सशक्त राष्ट्र के रूप में विश्व में पहिचान है। उन्होंने इस अवसर पर पटेल जी के चित्र के समक्ष नतमस्तक होकर उन्हें नमन भी किया। इस अवसर पर पूरा तिराहा सादार पटेल की जय घोष से गूंज उठा।

इस अवसर पर समाजसेवी प्रसिद्ध हड्डी रोग विशेषज्ञ व कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डा. चन्द्रेश उपाध्याय ने कहा कि सरदार पटेल युग पुरूष थे। वे दलीय सीमा से पर रह कर सदा राष्ट्रवादी ताकतों को आक्सीजन देने का काम करते रहे। हमे उनसे सबक लेना चाहिए। उनकी राह पर चल कर देश मजबूत हो सकता है।

कार्यक्रम में कुंवर धनुर्धर सिंह के अलावा कार्यक्रम में सभासद व भाजपा नेता फतेह बहादुर सिंह सहित वरिष्ठ सभासद धनन्जय सहाय, सत्य प्रकाश राही, अश्विनी चौबे, बंटी सिंह, पंडित सिंह, विजय पांडेय, जितेन्द्र पांडेय, विशाल सिंह विसेन, ऋषि प्रताप सिंह सोनू यादव सहित सैकड़ों लोगों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

 

(114)

Leave a Reply


error: Content is protected !!