इंसानियतः इस्लामिक संस्था बैतुलमाल ने सेमरा के हिंदू-मुस्लिम पीड़ितों को दी मदद

April 19, 2016 8:16 PM0 commentsViews: 2761
Share news

नजीर मलिक

आग से तबाह सेमरा गांव और बिलखती महिलाएं

आग से तबाह सेमरा गांव और बिलखती महिलाएं

सिद्धार्थनगर। जात धर्म से परे हट कर ग्राम सेमरा के पीड़ितों को इस्लामिक संस्था बैतुलमाल ने आर्थिक मदद देकर रेगिस्तान में नखलिस्तान का एहसास कराया है। जिला हेटक्वार्टर की छोटी सी संस्था की बड़ी मदद की हर तरफ चर्चे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक बैतुलमाल के सदस्य आज ग्राम सेमरा पहुंचे। उन्होंने आग से पीड़ित सबसे परेशान लोगों की छानबीन की और उनमें से सबसे अधिक 12 जरूतमंदों को 31 हजार रुपये की मदद दी।

राहत पाने वाले पीड़ितों के नाम तीरथ, राम भरोसे, संतलाल,राम उग्रह, राम करन, हसन, रफीक, वली मोहम्मद, अकबर अली, सनाउल्लाह, मोहम्मद यूसुफ और मतीन शामिल हैं। छानबीन में पता चला कि अमीन की बेटी की शादी होने वाली थी, मगर उसकी शादी के सारे सामान जल गये हैं।

इस पर बैतुलमाल की तरफ से वहीं पर फैसला लेकर मतीन को अलग से अतिरिक्त मदद देने का एलान किया गया। जो उसे इसी हफ्ते दे दी जायेगी। बैतुलमाल की टीम में डा. एमएस अब्बासी, अफजाल अनवर खान, मुश्ताक अहमद, मोहम्मद फारूक आदि शामिल रहे।

बताते चलें कि नौगढ़ तहसील के ग्राम सेमरा में गत 12 मार्च को भयानक आग लगी थी, जिसमें पांच सौ बीघा फसल तो जली ही थी, 33 लोगों के घर भी स्वाहा हो गये थे। बैतुल माल ने अपने छोटे बजट में उनमें से सबसे ज्यादा परेशान 12 का चयन किया था। बाकी लोगों को भी मदद दी जा रही है।

बहरहाल विशुद्ध रूप से एक धार्मिक संस्था ने अपने सीमित बजट से जिस प्रकार बिना धार्मिक भेद किये हर जरूरतमंद को मदद दी, उसे एक मिसाल बताते हुए लोग उसकी चर्चा कर रहे हैं। क्षेत्रीय निवासी अबुल कलाम आजाद ने इसे इंसानियत की शानदार मिसाल बताया है।

Leave a Reply