गांवों की लूट और दिल्ली की शान अब नहीं चलने वाली- आफताब आलम

October 17, 2018 3:55 pm0 commentsViews: 489
Share news

अजीत सिंह

उुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। बहुजन समाज पार्टी के डुमरियागंज लोकसभा क्षेत्र प्रभारी आफताब आलम ने आरोप लगाया है कि भाजपा की केन्द्र व प्रदेश की सरकारें झूठे वादों और घोषणाओं से जनता को बरगला रही हैं। उन्होंने कहा कि झूठे वादों से जनता के रोटी कपड़ा और मकान की समस्यायें हल नहीं सकतीं। इसलिए जनता को चाहिए कि वह आगामी चुनाव में इस सरकार को सबक सिखाने के लिए लामबंद रहे।

बुधवार को डुमरियागंज विधानसभा क्षेत्र के  ग्राम मधुकरपुर, धोबहा, हथिहयवा, शाहपुर, धनौरी, मन्नीजोत, पिकौरा बाज़ार, भड़रिया बाज़ार, बढ़नी चाफा, भवानीगंज, भानपुर रानी, बेवा चौराहा, हल्लौर, वैदौला, सोनहटी, पथरा और मिठवल बाज़ार आदि में जनसम्पर्क के दौरान बसपा नेता आफताब आलम ने केन्द्र सरकार की जम कर बखिया उधेड़ी। उन्होंने कहा कि सरकार की “ गांवों की लूट और दिल्ली की शान” की नीति एक साथ नहीं चलने पायेगी।

बसपा के घोषित एम्मीदवार के तौर पर आफताब आलम ने कहा कि केन्द्र सरकार पूंजीपतियों की कठपुतली है। पेट्रोल और डीजल के दाम बढा कर पूंजीपतियों को और अमीर बना रही है। जबकि जनता से लगातार झूठ बोल रही है। उन्होंने भाजपा से सवाल किया कि कहां गयी प्रधानमंत्री जी का हर परिवार को 15 लाख देने की घोषणा? कहां गया अच्छा दिन लाने का वादा, कहां गया रुपये का मूल्य डालर के बराबर करने का मोदी साहब दावा?

आफताब अहमद ने ग्रामीणों से कहा कि अगर इस स्वेच्छाचारी सरकार को रोकने के लिए आप लामबंद नहीं हुए तो आने वाले दिनों में आम आदमी का जीना और मुश्किल हो जायेगा। इसलिए जरूरत है सरकार और डुमरियागंज संसदीय क्षेत्र का जनप्रतिनिधित्व बदलने की। उन्होंने कहा की आप अपने को बदले, सरकार बदल जायेगी। उन्होंने गांवों में स्थित दुर्गा प्रतिमा के पांडालों में भी लोगों से मुलाकात की और दानपात्र में चढ़ावा भी डाला।

उपरोक्त गांवों की नुक्कड़ सभाओं में डुमरियांगंज विधानसभा क्षेत्र से बसपा प्रत्याशी रहीं सैयदा खातून ने लोगों से कहा कि इस बार लोकसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी को जिताने का काम करें, उनकी जीत पर क्षेत्रीय विकास की गांरंटी हमारी है। उन्होंने कहा कि आफताब भाई की जीत हमारी और आपकी जीत होगी।

इन सभाओं में सुहेल फारूकी, जफ़र अहमद चेयरमैन डुमरियागंज, जहीर मलिक, बच्चा राम बौध, अरविन्द कन्नौजिया, डॉ इन्द्रजीत, रमेश चमार, बाल कृष्ण ओझा, मुन्ना श्रीवास्तव, सम्स तबरेज, राम किशोर, सुर्यमन वर्मा, सुन्दरपथ पाण्डेय, विवेक चौधरी, जगराम मौर्या, दूधनाथ प्रजापति, रामप्रसाद दुबे, अनिल कुमार मिश्रा, रंजीत गौतम, तैयब अली, सूर्य बलि, अतिकुरह्मान, राप्ती मिश्र आदि भी साथ रहे।

 

 

 

 

(303)

Leave a Reply


error: Content is protected !!