शादी के डेढ़ साल बाद पत्नी का गला दबाकर मार दिया था, ननद समेत तीन गिरफ्तार

September 2, 2015 7:03 pm0 commentsViews: 194
Share news

अजीत सिंह

111111111111111111111111111111

“शादी के डेढ़ साल बाद पत्नी की हत्या कर फरार चल रहे पति समेत तीन मुलजिमों को सिद्धार्थनगर पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। इनकी शिनाख्त रमेश, मायाराम के रूप में हुई है जबकि तीसरी मुलजिम विवाहिता की ननद प्रियंका है। 

एसपी सिद्धार्थनगर अजय साहनी ने बताया कि लड़की बृजमनगंज की रहने वाली थी जिसकी शादी उसका के रमेश से हुई थी। 28 जून को उसका पुलिस को खबर मिली कि एक विवाहिता ने खुदकुशी कर ली है। मौके पर पहुंची पुलिस को विवाहिता की लाश पंखे से लटकी हुई मिली थी। मगर पुलिस ने जब डेडबॉडी का पोस्टमार्टम करवाया तो नतीजे उलटे निकले। पीएम रिपोर्ट के मुताबिक विवाहिता की मौत दम घुटने से हुई थी। इसी रिपोर्ट के बाद पुलिस सरगर्मी से रमेश और बाकी आरोपियों की तलाश में जुट गई।

सिद्धार्थनगर पुलिस के मुताबिक जांच भटकाने के लिए आरोपियों ने ढोंग रचा था। इन्होंने महिला का गला घोटने के बाद उसकी लाश पंखे से टांग दिया था। पुलिस ने बताया कि मुखबिर से इनपुट मिलने के बाद तीनों मुलजिमों कोे अरेस्ट किया गया है। पूछताछ में रमेश ने कुबूल किया कि उसने अपनी पत्नी का गला दबाकर उसकी हत्या की थी। इस अपराध में उसकी बहन प्रियंका और मायाराम के शामिल होने की बात भी उसने कुबूल ली।

उसका पुलिस ने बताया कि पीएम रिपोर्ट के आधार पर दहेज हत्या समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। तीनों मुलजिम गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार थे। उसका थानाध्यक्ष योगेन्द्र सिंह की अगुवाई में एक टीम इनकी तलाश में छापेमारी कर रही थी। इस टीम को खबर मिली कि मुलजिम अपने घर में छिपे हुए हैं। एसओ योगेंद्र सिंह  ने कांस्टेबल सत्यप्रकाश यादव, पन्ने लाल और महिला कांस्टेबल पूनम के साथ बुधवार तड़के मुलजिम के घर छापामारी की और वहीं से तीनों को अरेस्ट कर लिया।

चार नकबजनों पर गैंगेस्टर

सिद्धार्थनगर की त्रिलोकपुर पुलिस ने चार नकबजनों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने बताया कि त्रिलोकपुर थानाध्यक्ष ओम प्रकाश चौबे की अगुवाई में यह गिरफ्तारी हुई है। इनकी शिनाख्त देवलीडीहा निवासी सुग्रीव उर्फ छोटकऊ, सेमरी निवासी रंजीत यादव, धर्मेन्द्र यादव और बलरामपुर जिले के उतरौला थाने के दिलीप यादव के रूप में हुई है। पुलिस का दावा है कि उक्त चारों का गिरोह नकबजनी में माहिर हैं। इनपर गैंगेस्टर की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

(10)

Tags:

Leave a Reply


error: Content is protected !!