होली के दिन से सप्ताहांत तक ताबड़ तोड मौतों से दुखों के सागर में डूब गए डेढ़ दर्जन परिवार,

March 26, 2022 1:57 PM0 commentsViews: 595
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। होली का त्यौहार इस बार जिले में हदसों के कई रंग लेकर आया जिसमें लगभग एक दर्जन लोगों की जान चली गई। हादसों का दौर होली के दिन से शुरू हुआ तो सात दिनों तक चलता ही रहा। जिससे एक दर्जन परिवारों पर मातम छा गया। रंगों के पर्व होली के दिन 5 युवतियों की दर्दनाक मौत हुई। दो युवकों ने सड़क हादसों में जान गवां दी तो एक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई, जबकि एक नाराज पत्नी को मनाने के लिए ससुराल पहुंच गया और मना करने पर गांव के बाहर ही केरोसीन डालकर खुद को आग के हवाले कर दिया। होली के बाद भी मौतों का सिलसिला जारी रहा और सप्ताह भर में केवल भिन्न हादसों में कम से कम 15 लोगों ने अपनी जा गवाई, जिससे डेढ़ दर्जन परिवार दुखों के सागर में डूबने को मजबूर हुए।

सबसे बड़ा हादसा जोगिया और डुमरियागंज में

जीजा की मौत साला, जख्मी

इस  बार की होली में सबसे बड़ा हादसा जिले के डुमरियागंज और सदर तहसील में हुआ। यहां होली के दिन कुल् 6 लोगों की जान गई। सदर तहसील के जोगिया क्षेत्र में रंग खेलने के बाद बूढ़ी राप्ती नदी में नहाने गई आकांक्षा व रिया पांडेय नदी में डूब गईं। आकांक्षा अपने जीजा के घर होली मनाने आई थी और रग खेलने के बाद जीजा की बहन रिया पांडेय, अपनी बहन व जीजा के साथ नदी में नहाने गई थी जहां वे पानी में डूबने लगीं। रिया व आकांक्षा को बचाने के लिए आंकांक्षा के जीजा और बहन नदी में कूदे तो वे भी डूबने लगे। मगर उन्हें बचालिया गया मगर आकांक्षा औररिया को न बचाया जा सका। इसी प्रकार डुमरिगंज के तरावं गांव की 17 साल की नीलम  भी होली के बाद रंग उतारने केलिए राप्ती नदी में नहाने गई थी जहां मौत ने उसका स्वागतकिया।

इसी तरह डुमरियागंज के थाना व कस्बा भवानीगंज निवासी चंदन शर्मा (३०) पुत्र लखन की ससुराल जिगनी थाना सादुल्लाह नगर जनपद बलरामपुर में थी। वह पत्नी के साथ होली में ससुराल गया था। सड़क हादसे में उसकी जान चली गई। जबकि उसके साले शिवा की हालत गंभीर बनी हुई है। खुशी पल भर में मातम में बदल गई।

पत्नी को ससुराल छोडऩे गया था, हादसे में चली गई जान

सदर तहसील के कपिलवस्तु कोतवाली क्षेत्र के बनियाभारी गांव निवासी धीरेंद्र गौतम (24) पुत्र छेदी प्रसाद होली में पत्नी को ससुराल छोडऩे गया था। पत्नी को हंसी खुषी छोड कर वह घर लौट रहा था मगर  घर लौटते समय लोटन क्षेत्र में उसकी बाइक पेड़ से टकरा गई । टक्कर इतनी भीषण थीकि मौक पर ही उसकी मौत हो गई। मौत की खबर मिलने के बाद दोनों परिवारों में मातम छा गया और खुशियां गम में बदल गई।

ससुराल में होली मनाने गया था युवक, मौत मिल गई

ढ़ेबरूआ थाना क्षेत्र के तालकुंडा गांव के टोला गोनहा निवासी विरंजन (28) पुत्र विश्वनाथ पासवान शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के चरिगवां गांव में अपने ससुराल गया था। यहां संदिग्ध हाल में शनिवार को उसकी मौत हो गई। दोनों परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। रंगो पर्व इनके लिए गम में बन गया।

इसके अलावा भी कंदवा के बागेशसिंह की बाइक दुघटना, ओम प्रकाश की डेमू ट्रेन से कट कर व तमाम करणों से आधा दर्जन लोगों की मौत होने की खबरें हैं। कुलमिला कर होली के दिन से पूरे सप्ताह में १५ इंसानी जानों के खतम हो जाने से कई परिवारों में गम का माहौल है। कल सालिगराम की मौत ने तोबउसके तीन मासूम बच्चों और पत्नी की दुनियां ही उजाड़ दी है।

 

 

 

Leave a Reply