भाजपा राज में कानून व्यवस्था ध्वस्त़, अपराध का पारा आसमान पर– कमाल यूसुफ

May 26, 2017 1:58 pm0 commentsViews: 536
Share news

 

नजीर मलिक

kamal

सिद्धार्थनगर। यूपी में भाजपा राज के दो महीने में ही कानून व्यवस्था के चीथड़े उड़ गये हैं। हत्या, लूट, डकैती ने प्रदेशवासियों की नींद छीन ली है। हर तरफ भय और आंतक का माहौल है। मुख्यमंत्री पद का इकबाल मटियामेट होता जा रहा है।

यह बातें पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ मलिक ने कपिलवस्तु पोस्ट से कहीं। उन्होंने कहा कि पिछले ३० सालों में उत्तर प्रदेश की ऐसी दुगर्ति नहीं हुई है। गोरखपुर, लखनऊ और आगरा में दिल दहाड़े हत्या हुई। करोड़ों लूअे गये। इसी प्रकार इलाहाबाद, बदायूं नोयेडा आदि स्थानों पर महिलाओं से उनके परिजनों के साथ बलात्कार हुये। प्रदेश में कथित गौरक्षकों का आंतक फैला हुआ है और मुख्यमंत्री जी कुछ नहीं कर पा रहे हैं।

पूर्वमंत्री ने कमाल यूसुफ ने आरोप लगाया कि सहांरनपुर में तीन सप्ताह से दलितों और राजपूतों के बीच दंगा चल रहा है। रोज घर जलाये जाते हैं और आये दिन गालियां चती हैं। वहां के हालात कब नियंत्रण में होंगे, किसी को कुछ पता नहीं है। अखिर वहां दंगाइयों को इतनी छूट कैसे मिली हुई है। दंगाइयों को संरक्षण कौन दे रहा है। इस पर सरकार कुछ नहीं बोल रही।

उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि वह प्रदेश के लोगों की जानमाल की हिफाजत करे। धर्म आधारित राजनीहत के बजाये जन आधारित राजनीत कर प्रदेश को आगे ले जायें। उन्होंने सवाल किया कि विपक्ष में रह कर हल्ला करने वाली पार्टी के नेताओं शासन में आकर यह महसूस नही होता कि जेवर की घटना में घर के मर्दों के सामने उनकी औरतों से बलात्कार किया गया। इस प्रकार की घटना पर रोक लगना चाहिए।

 

 

(7)

Leave a Reply


error: Content is protected !!