निकाय चुनावः डुमरियागंज में विपक्षी दल भाजपा से नहीं मुस्लिम मतों पर वर्चस्व की जंग लड़ रहे

November 19, 2017 1:43 pm0 commentsViews: 975
Share news

अजीत सिंह

आत्मविश्वास से भरे भाजपा नेता एकजुट हो चुनाव प्रचार करते हुए

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज विधानसभा चुनावों में भाजपा से बुरी तरह पिटने के बाद भी विपक्ष ने काई सबक नहीं लिया है। वहां विपक्षी नेता सत्ताधारी दल भाजपा को हराने के बजाये अपने प्रभाव को परखने और अहम को शांत करने की लड़ाई लड़ रहे हैं।

डुमरियागंज में कुल सात उम्मीदवार मैदान में हैं। उनमें भाजपा के मधुसुदन अग्रहरि के अलावा सपा के अतीकुर्रहमान, बसपा के जफर अहमद बब्बू और बसपा के एक खेमे से बागी उम्मीदवार अजय यादव के अलावा कांग्रेस के मो. वासिफ वस्सू हैं। 25 फीसदी मुस्लिम मतदाता वाले इस नगर पंचायत में कांग्रेस की खेमें बदंी के चलते अशोक गुप्ता जैसे मजबूत प्रत्याशी की जगह वासिफ को टिकट देकर न केवल कांग्रेस संमर्थकों को निराश किया वरन एक और मुस्लिम उम्मीदवार की तादाद भी बढ़ा दी।

डुमरियागंज में समाजवादी पार्टी ने अतीकुर्रमान को लड़ाया है। जाहिर है कि इस फैसले में वहां सपा नेता चिनकू यादव की सहमति रही होगी। इसी तरह बसपा नेता सैयाद मलिक की सहमति से जफर अहमद बब्बू को लडाया गया। सपा छोड़ बसपा में गये कमाल युयुफ के खेमे से अजय यादव बागी प्रत्याशी बने।

दरअसल बात किसी के हार जीत की नहीं है। बात इतनी है कि नगर क्षे़त्र के मुस्लिम मतदाता अब चार खेमों में बंटेगे। चुनाव के बाद जिस खेमे को  मुस्लिम मतदाताओं का समर्थन ज्यादा होगा, हारने के बावजूद वह खेमा गर्व से सीना फुलायेगा कि मुसलमानों का असली नेता वही है।  तो भाई यह सोचने की बात है कि यह सभी लोग जीतने के लिए लड़ रहे हैं या मुसलमानों का नेता बनने के लिए।

नगर के मतदाता मुहम्मद  मुश्ताक कहते हैं कि हम भाजपा के खिलाफ किसे वोट दें, यह हमारी दुविधा है।  अब तो यही लगता है कि पोलिंग पर जाने का कोई फायदा न होगा। यह बात हम समझ रहे, मगर सेक्युलर दलों के नेता नहीं समझ पा रहे हैं।

आत्म विश्वास से भरपूर भाजपा

इधर अहम की इस लडाई में विपक्षी नेताओं को मुस्लिम वोटों में उलझा देख भाजपा काफी राहत में है। भाजपा उम्मीदवार मधुसूदन के पक्ष में भाजपा एकजुट होकर अपना कैम्पेयन चला रही है। भाजपाई पूरे अत्म विश्वास से कह रहे हैं कि पहला स्थन पर भाजपा है। विपक्ष आपस में पहले, दूसरे, तीसरे स्थान के लिए आपस में लड़ रहा है।

 

 

(718)

Leave a Reply


error: Content is protected !!