दुर्बल वर्ग के बच्चों को शिक्षित करने के लिए बीएसए ने रवाना किया प्रचार वाहन

January 27, 2024 7:45 PM0 commentsViews: 101
Share news

अजीत सिंह 

प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते बीएसए देवेंद्र कुमार पांडेय

सिद्धार्थनगर। निजी विद्यालयों में अलाभित समूह के बच्चों का नामांकन कराने के लिए अभिभावकों को जागरूक करने के उद्देश्य से पूरे जनपद में प्रचार -प्रसार किया जाएगा। इसके लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय ने शनिवार को पांच वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये वाहन अलग -अलग पांचों तहसील में जाएंगी। प्रचार वाहन से अलाभित समूह व दुर्बल वर्ग के बच्चों का जनपद के मान्यता प्राप्त विद्यालय में नामांकन कराने के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

बीएसए ने बताया कि विद्यालयों में निःशुल्क प्रवेश के लिए आवेदन 20 जनवरी से शुरू हो गया है। निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत अलाभित समूह और दुर्बल वर्ग के बच्चों के पूर्व प्राथमिक व कक्षा एक में प्रवेश के लिए 18 फ़रवरी तक ऑनलाइन आवेदन लिया जायेगा।

बीएसए ने बताया कि आलाभित समूह के अन्तर्गत अनुसूचित जाति व जनजाति, सामाजिक एवं शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग, निःशक्त बच्चे व एचआईवी या कैंसर पीड़ित माता-पिता, अभिभावक के बच्चे, निराश्रित, बेघर, बीपीएल वर्ग के बच्चे सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र के आधार पर आवेदन कर सकते हैं।

दुर्बल की श्रेणी के अन्तर्गत वह बच्चे आयेंगे जिनके माता-पिता या संरक्षक विकलांग, वृद्धा, विधवा पेंशन प्राप्त करते हो अथवा जिनकी वार्षिक आय एक लाख तक किसी सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र के आधार पर हो।प्रवेश के लिए बच्चे की उम्र तीन से सात साल के मध्य होनी चाहिए। जन्म प्रमाण-पत्र सीआरएस पोर्टल से निर्गत होना अनिवार्य है। निवास प्रमाण पत्र के रूप में आधार कार्ड, मतदाता कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाईसेंस, बैंक पासबुक (फोटोयुक्त) आदि में से कोई एक होना चाहिए। इस दौरान ज़िला समन्वयक अमित शुक्ला, संदीप सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply