स्टेट बैंक की दीदादिलेरी से हजारों मुसलमानों की ईद की खुशियों पर गिरी गाज

June 14, 2018 3:20 PM0 commentsViews: 482
Share news

— हल्लौर बैंक में नो कैश का बोड लगा कर काम बंद, ईद के पूर्व दिवस पर खरीदारी से वंचित हुआ क्षेत्र का  मुस्लिम समाज

शबीह हैदर

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। शुक्रवार को जिले में ईद का पर्व मनाया जायेगा, लेकिन मुस्लिम बाहुल्य डुमरियागंज तहसील के हल्लौर टाउन के स्टेट बैंक में आज दोपहर 1 बजे ही “कैश नहीं है” का बोर्ड लटका दिया गया और कर्मचारी अपनी सीटों से काम बंद कर उठ गये। इस सूचना के बाद से यहां का मुस्लिम उपभोक्ता बहुत परेशान है।अनेक लोगों का कहना है कि बैंक की घोषणा से वे खुद को लुटा महसूस कर रहे हैं।

खबर है कि आज यानी गुरुवार सुबह जब खाताधारक बैंक पहुँचे तो बड़ी हीलाहवाली के साथ लिमिटेड कैश दिया गया। और एक बजे के बाद कैश नही है कहकर बैंक कमी कुर्सियां छोडकर उठ खड़े हुए। जबकि ईद त्यौहार सर पर है। इस बैंक में 65 से70 फीसदी खातेदार मुस्लिम हैं। ईद की पूर्व संध्या पर उन्हें बड़ी खरीदारी के लिए रकम चाहिएए मगर बैंक में रकम न होने के कारण् उन्हें बहुत झटका लगा है। उपभोक्तओ में काफ़ी मायूसी देखी जा सकती है। लोग मायूस होकर सरकार की नीतियों को कोसते हुए देखे गए।

बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक  की हल्लौर शाखा की सबसे बड़ी विशेषता ये थी की नोटबन्दी के दौरान जब देश के लगभग सभी बैंकों के सामने लंबी कतारे लगती थी, तब भी इस बैंक ने अपने कस्टमरों को कभी खाली हाथ नहीं भेजा। परंतु नोटबन्दी के बाद से कई बार इस बैंक से कैश नदारत रहे है। गौरतलब हो कि आज अपरान्ह एक बजे से बैंक कर्मचारियों की कुर्सियां खाली हो गयी और नो कैश का बोर्ड लगा दिया गया है। इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि आज बैंको के अन्दर की स्थित कितनी भयावाह है।

इस बारे में शाखा प्रबंधक मोहम्मद अली अंसारी से इस संबंध में बात की गई तो बताया कि मुख्य शाखा से कैश नही आ रहा है और व्यापारियों की तरफ से कैश जमा करने की रफ़्तार बड़ी धीमी है। इसलिये ये समस्या पैदा हुई है।इसका जल्द ही समाधान कर लिया गया है। शाखा प्रबंधक कुछ भी कहें, मगर इससे हजारों उपभाक्ताओं की पर्व का मनाने खुशी आधी रह ही गई है।

 

 

 

 

Leave a Reply