भट्ठे की सफाई करते समय दो मजदूर ईंटों में दबे, एक की दर्दनाक मौत, दूसरा गंभीर

May 30, 2017 3:56 pm0 commentsViews: 761
Share news

अजीत सिंह

bin

सिद्धार्थगर। जिला हेडक्वार्टर से करीब तीन किमी दूर ग्राम बिनैका स्थित भट्ठे पर दो मजदूर ईंटों के नीचे दब गये। घटना में 40 साल के एक मजदूर की मौत हो गई तथा दूसरा बुरी तरह जख्मी हो गया। उसे जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जाती है। घटना मंगलवार सुबह आठ बजे की है।

बिनैका गांव के बाहर इनाम अली ठेकेदार कर भट्ठा अरसे से चल रहा है। बताया जाता है कि भट्ठे पर काम करने वाले 40 वर्षीय राधेश्याम पुत्र जोखू, ग्राम जगमोहनी और 50 साल के नबीजान पुत्र नसीब ग्राम दुमदुमवा आज सुबह आठ बजे भट्ठे की राविश साफ कर रहे थे। प्रत्यक्षदिर्शियों के अनुसार सफाई के दौरान राविश के साथ ईंटों की एक दीवार दोनों पर भरभरा कर ढह पड़ी और दोनों मजदूर उसके नीचे दब गये।

मजदूरों की चीख और ईंटों के गिरने के शोर से अन्य लोग भाग कर मौके पर पहुंचे और उन्हें बाहर निकाला। दोनों बुरी तरह घायल थे। उन्हें अस्ताल ले जाने की तैयारी चल ही रही थी कि राधेश्याम ने दम तोड़ दिया। दूसरे घायल नबीजान को जिल अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। घटना की सूचना पुलिस को नहीं दी गई है। याद रहे कि कि मृतक के तीन नाबालिग बच्चे हैं। परिवार बेहद गरीब है। उसकी पत्नी घटना के बाद से बेहद सदमे में है।

 

 

 

Eent-bhattha-me-dab-kar-maut

अजीत सिंह

सिद्धार्थगर। जिला हेडक्वार्टर से करीब तीन किमी दूर ग्राम बिनैका स्थित भट्ठे पर दो मजदूर ईंटों के नीचे दब गये। घटना में 40 साल के एक मजदूर की मौत हो गई तथा दूसरा बुरी तरह जख्मी हो गया। उसे जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जाती है। घटना मंगलवार सुबह आठ बजे की है।

बिनैका गांव के बाहर इनाम अली ठेकेदार कर भट्ठा अरसे से चल रहा है। बताया जाता है कि भट्ठे पर काम करने वाले 40 वर्षीय राधेश्याम पुत्र जोखू, ग्राम जगमोहनी और 50 साल के नबीजान पुत्र नसीब ग्राम दुमदुमवा आज सुबह आठ बजे भट्ठे की राविश साफ कर रहे थे। प्रत्यक्षदिर्शियों के अनुसार सफाई के दौरान राविश के साथ ईंटों की एक दीवार दोनों पर भरभरा कर ढह पड़ी और दोनों मजदूर उसके नीचे दब गये।

मजदूरों की चीख और ईंटों के गिरने के शोर से अन्य लोग भाग कर मौके पर पहुंचे और उन्हें बाहर निकाला। दोनों बुरी तरह घायल थे। उन्हें अस्ताल ले जाने की तैयारी चल ही रही थी कि राधेश्याम ने दम तोड़ दिया। दूसरे घायल नबीजान को जिल अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। घटना की सूचना पुलिस को नहीं दी गई है। याद रहे कि कि मृतक के तीन नाबालिग बच्चे हैं। परिवार बेहद गरीब है। उसकी पत्नी घटना के बाद से बेहद सदमे में है।

 

 

 

(8)

Leave a Reply


error: Content is protected !!