exclusive–गोल्हौरा कांडः युवतियों से गैंगरेप किया, फिर उन्हें जिस्मफरोशी के धंधे में उतार दिया

November 5, 2016 4:23 pm0 commentsViews: 495
Share news

नजीर मलिक

https://youtu.be/FDNNRT2CtU0

 

सिद्धार्थनगर। कल रात गोल्हौरा थाने के तिवारीपुर में पुलिस द्धारा मुक्त कराई गई आसमां ने अपने अपहरण और साथ में हुए जुल्म की जो कहानी सुनाई है वह थर्रा देने वाली है। बदायूं की रहने वाली २० साल की आसमां के मुताबिक बदमाश उनके साथ खुद गैंगरेप करते थे और जिस्मफरोशी कराते थे। इंकार करने पर हैवानों की तरह बेल्ट से पिटाई करते थे।

आसमां ने कपिलवस्तु पोस्ट को जो आपबीती सुनाई है वह दिल दहला देने वाली है। पीड़ित आसमां (बदला नाम) ने बताया कि तीनों बदमाश मनोज, रिकू और राकेश उन्हें अपहृत कर तिवारीपुर लाए और एक किराये के मकान में रहने लगे।

उन्होंने गांव वालों को आरकेस्ट्रा ग्रुप से जुड़ा बताया था। मकान मिलने के बाद तानों उनके साथ बलात्कार करते और इंकार करने पर बेल्ट से पिटाई करते थे। बाद में उन्होंने उनसे धंधा भी कराने लगे। उन्हें हमेशा मकान में कैद रखा जाता। किसी से मिलने नहीं दिया जाता था।

राशिद बन गया फरिश्ता

असामां ने बताया कि अचानक एक दिन तीनों दोस्त नीचे उतरे और कुछ दूर जाकर किसी के साथ बैठ कर बातें करने लगे। इस दौरान उसने मौका पाकर घर के सामने खड़े राशिद नामक नौजवान को बुलाया और जल्दी से अपने घर का नम्बर देकर उन्हें मदद की भीख मांगी।

पोलट्री फार्म का करने वाले राशिद ने उसके घर को फोन किया। घर से आसमां का भाई अपनी फूफी नाजिमा के साथ आया और पुलिस की मदद से मुक्त कराया। पुलिस के आने से दो दिन पहले बाकी तीनों सहेलियों को कहीं भेज दिया गया था। आशंका है उन्हें बेच दिया गया है।

पुलिस ने तहरीर का अल्पीकरण किया

नाजिमा के बयान के मुताबिक उसने पुलिस से उन तीन युवतियों को बेचने की बात कही थी। थाना गोल्हौरा की पुलिस द्धारा उसी आशय की तहरीर लेनी चाहिए थी। लेकिन उसने जिस तरह से तहरीर लिखवाया उसमें युवतियों को बेचने का मुद्दा ही नहीं लिखा गया। आसमां का कहना है कि उससे पुलिस ने खुद बोल कर तहरीर लिखवाई।

समाचार लिखे जाने तक क्षेत्राधिकारी ने बताया कि पूरे प्रकरण् की जांच इटवा थाने के प्रभारी रणधीर कुमार को सौंप दी गई है। पुलिस दोनों फरार अभियुक्तों को तलाश रही है।

क्या था मामला

बता दें कि तीन माह पूर्व बदायूं से दिल्ली जा रही नाजिमा और उसकी तीन सहेलियों को नजीबाबाद में हरदोई के तीन बदमाशों ने न नशायुक्त मिठाई खिला कर बेहोश कर दिया था और उन्हें लेकर सिद्धार्थनगर जिले  के तिवारीपुर गांव चले आये और अरकेस्ट्रा ग्रुप का बताकर एक किराये के मकान में रह रहे थे। उनकी करतूतों का कल रात भंडाफोड़ हुआ था, जिसमें एक आरोपी रिंकू पकड़ा गया था और मनोज व राकेश फरार हो गये थे।

 

 

 

 

 

(2)

Leave a Reply